जागरण संवाददाता, बोकारो: झारखंड में जिस भी दल की सरकार बन रही है, सिर्फ विकास के नाम पर ढिढोरा पीटा जा रहा है। जमीन स्तर पर देखने को कुछ नहीं मिल रहा। सिर्फ जनता को विकास का सपना दिखाकर गुमराह करने का कार्य पूर्ववर्ती व वर्तमान सरकार की ओर से किया जा रहा है। उक्त बातें आदिवासी सेंगेल अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने सेक्टर-12 कार्यालय में बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए कही। कहा कि झारखंड में आदिवासियों व मूलवासियों के अस्तित्व, पहचान और हिस्सेदारी को सुरक्षित रखते हुए विकास की नीति बनानी होगी और योजनाओं का क्रियान्वयन गंभीरता के साथ करना होगा, अन्यथा विकास के नाम पर झारखंड का विनाश होना सुनिश्चित है। उन्होंने राज्यपाल से सरना धर्म कोड लागू करने, संताली भाषा को प्रथम राजभाषा का दर्ज देने, शराबबंदी लागू करने, स्थानीय नीति बनाने एवं ओबीसी को 27 फीसद आरक्षण देने की मांग की। मौके पर राकेश महतो, हराधन मार्डी, खिरोधर मुर्मू, सुमित्रा मुर्मू, सुभाष महतो, नेपाल महतो, करमचंद्र हांसदा, भीम मुर्मू, सुखदेव मुर्मू, विरेश सोरेन, चंद्रमोहन मार्डी, चंद्रमोहन मार्डी, युगल किस्कू आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस