जागरण संवाददाता, बोकारो : गैर एनजेसीएस यूनियन मोर्चा की बैठक सेक्टर-नौ स्थित जय झारखंड मजदूर समाज के कार्यालय में यूनियन के महामंत्री बीके चौधरी की अध्यक्षता में हुई। बीके चौधरी ने कहा कि सेंट्रल यूनियनों ने अपने मांग से आधा बोनस पर समझौता किया और इतनी कम बोनस पर भी अपनी पीठ थपथपा रहे हैं।

कहा कि जय झारखंड मजदूर समाज के आंदोलन को देखते हुए प्रबंधन ने 15500 रुपये का जो एकतरफा फैसला लिया था, उसे बदलना पड़ा। अगर यूनियन के बैनर तले मजदूर आंदोलनरत नहीं रहते तो 16500 की जगह मजदूरों को 15500 रुपये ही बोनस का भुगतान होता। झारखंड क्रांतिकारी मजदूर यूनियन के महासचिव डीसी गोहाई ने कहा कि सेल के उत्पादन में अहम भूमिका निभाने वाले ठेका मजदूरों को बोनस से वंचित रखना इस्पात उद्योग के लिए शुभ संकेत नहीं है। जनता मजदूर सभा के महासचिव साधु शरण गोप ने कहा कि बोनस का कोई फार्मूला नहीं होने के कारण लाभांश का उचित अंश मजदूरों को नहीं मिल पा रहा है। इसके लिए प्रबंधन और एनजेसीएस नेता दोषी हैं।

इस अवसर पर आरबी चौधरी, शंकर कुमार, एनके सिंह, केके मंडल, संजय कुमार सिंह, सुरेश प्रसाद, अभिमन्यु मांझी, रोशन कुमार, अनिल कुमार, जेएल चौधरी, आरआर सोरेन, आशिक अंसारी, चंद्रशेखर, बादल कोइरी, ओपी चौहान, मोहन राम, आई अहमद, वीके साह, रामा रवानी, देवेंद्र गोराई, आरएन राकेश, बीकेपी सिन्हा, ऋषि राज, ए अंसारी, धर्मेंद्र कुमार, सुनील गोराई, विनोद कुमार, बीपी मेहता, अमर रमा, माघा कालिदी उपस्थित थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस