संवाद सहयोगी, गोमिया (बेरमो) : उपप्रमुख मीना देवी ने बीडीओ मोनी कुमारी को लिखित पत्र देकर गोमिया प्रखंड में 14 वें वित्त योजना की राशि का बंदरबांट करने की शिकायत करते हुए इसकी जांच कराए जाने की मांग की है। कहा कि गोमिया प्रखंड में पंचायत सेवक ही सर्वेसर्वा हैं। अकेला पंचायत सेवक ही कनीय अभियंता और सहायक अभियंता दोनों की भूमिका निभा रहा है। इस बार मामला हजार-दो हजार का नहीं है बल्कि लाखों रुपये की बंदरबांट का है। पत्र में कहा गया है कि गोमिया प्रखंड की चुट्टे पंचायत अंतर्गत दनरा गांव में बिना प्राक्कलन की स्वीकृति के ही पुलिया निर्माण कर दिया गया। साथ ही बिना स्वीकृति की मापी पुस्तिका (एमबी) में इंट्री कर राशि की निकासी भी कर ली गई। पुलिया का निर्माण बिना सहायक अभियंता के ले आउट के ही पूर्ण दिखा दिया गया। उपप्रमुख का कहना है कि यह योजना में वित्तीय अनियमितता नहीं अपितु सीधे सरकारी राशि के गबन का मामला है। इस पर अबतक प्राथमिकी दर्ज नहीं किया जाना, प्रशासनिक उदासीनता की पराकाष्ठा है।

----------------------------------------

उपप्रमुख की शिकायत मिली है। शिकायत पत्र की एक प्रति जिला प्रशासन को भी प्रेषित किया गया है। पूरा मामला गंभीर है। यह पूर्व के बीडीओ के कार्यकाल का है। लिहाजा वस्तु स्थिति की जानकार लेने के बाद ही जांच पड़ताल कर दोषियों पर कार्रवाई संभव है। प्रखंड के सहायक अभियंता अरुण कुमार को जांच की जिम्मेवारी सौंपी गई है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। - मोनी कुमारी, बीडीओ गोमिया।

Posted By: Jagran