जागरण संवाददाता, बोकारो :

अपर सत्र न्यायाधीश द्वितीय जर्नादन ¨सह की अदालत ने चाउ¨मग बेचने वाले चास के जोधाडीह मोड़ निवासी अमित ¨सह की हत्या करने वाले चार हत्यारों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। चास मुफस्सिल थाना इलाके के मांझीडीह गांव में रहने वाले शिबू हांसदा, बाजुन मुर्म और जोधाडीह मोड़ चास निवासी विभाष बाउरी और विक्की ¨सह को अदालत ने हत्या के लिए दोषी पाते हुए आजीवन कारावास की सजा के अलावा 50-50 हजार रुपये जुर्माना भी भरने का आदेश दिया है। सभी को साक्ष्य मिटाने की कोशिश में भी अदालत ने दोषी पाते हुए पांच-पांच वर्ष के कैद की सजा के अलावा दस-दस हजार रुपये का जुर्माना किया है। जुर्माने से वसूली गई राशि में से 2 लाख रुपये मृतक की पत्नी को देने का आदेश अदालत ने दिया है। सभी सजाएं साथ-साथ चलेंगी। वर्ष 2017 के 7-8 अक्टूबर को बैंक ऑफ इंडिया के सामने चाउ¨मग बेचने वाले जोधाडीह मोड़ चास निवासी अमित ¨सह अपने दोस्त विक्की ¨सह व विभाष बाउरी के साथ शराब पीने चास मुफस्सिल थाना इलाके के मांझीडीह गांव में गया था। उन्होंने मांझीडीह गांव में रहने वाले बाजुन मुर्मू और शिबू हांसदा के साथ बैठकर शराब पी। शराब पीने के दौरान हुए विवाद में सभी ने मिलकर अमित की हत्या पत्थर से सिर पर वार कर कर दी। हत्या के बाद साक्ष्य मिटाने के लिए सभी ने शव को बगल की झाड़ियों में फेंक दिया। चास मुफस्सिल पुलिस ने मृतक अमित के पिता त्रिलोकी ¨सह की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की थी। हत्या कर साक्ष्य मिटाने की कोशिश में अदालत ने सभी को दोषी पाते हुए यह सजा सुनाई।

Posted By: Jagran