सुरही (बेरमो) : नावाडीह थाना क्षेत्र के पोटसो में रविवार को दहेज की खातिर एक 25 वर्षीय विवाहित रहीमन खातून की हत्या जहर देकर व गला दबाकर ससुराल वालों ने कर दी। बाद में मामले को आत्महत्या का रूप देने के लिए मृतका के शव को ममता अस्पताल बोकारो ले जाया गया। चिकित्सकों ने शव को देखकर जब ससुराल वालों को डांट-फटकार लगाई तो वापस लौटकर शव को घर में रखा और मृतका के पुत्र व पुत्री को साथ लेकर फरार हो गए। यह सूचना जब मृतका के कटघरा ग्राम स्थित मायके वालों को मिली तो देर शाम पोटसो पहुंचे और हंगामा किया। कुछ देर बाद पुलिस टीम पोटसो ग्राम पहुंची और मृतका के पति मुख्तार अंसारी को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही शव को अपने कब्जे में लेकर नावाडीह थाना ले गई। पुलिस टीम में नावाडीह थाना के अवर निरीक्षक प्रवीण कुमार गुप्ता, राजेश कुमार यादव, सहायक अवर निरीक्षक गणेश पासवान, कमलेश सिंह, हरेंद्र प्रसाद आदि थे।

मृतका के पिता इशहाक अंसारी ने पुलिस को बताया कि उनकी पुत्री का विवाह पोटसो ग्राम निवासी करीम मियां के पुत्र मुख्तार अंसारी के संग वर्ष-2015 में हुई था। शादी के बाद से ही उसकी बेटी को दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाता रहा, जिसे लेकर कई बार सामाजिक बैठक भी की गई। शादी के बाद दो बच्चे का जन्म हुआ। एक लड़का चार वर्ष का और एक लड़की तीन वर्ष की है। उसके बावजूद उन लोगों के व्यवहार में कोई परिवर्तन नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि सोमवार की दोपहर दो बजे सूचना मिली कि उनकी बेटी की मौत जहर खाने से हो गई है। जब पोटसो ग्राम पहुंचे तो घर में दामाद मुख्तार अंसारी के अलावा अन्य कोई नहीं था। बेटी के शव के शरीर पर चोट व गर्दन में दाग के निशान पाए गए। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी बेटी की हत्या पति मुख्तार अंसारी, ससुर करीम मियां, सास मेहरुन बीबी, जेठ मुमताज अंसारी, देवर अख्तर अंसारी आदि ने दहेज की खातिर गला दबाकर की है। इस दौरान मुखिया प्रतिनिधि रूपलाल महतो, टेकलाल महतो, राजू महतो, कंचन त्रिगुनायत आदि उपस्थित थे। वर्जन

जहर खिलाकर पत्नी की हत्या करने का मामला दर्ज कर आरोपित पति मुख्तार अंसारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। शव का पोस्टमार्टम सोमवार को कराया जाएगा। रिपोर्ट आने के बाद इस मामले का पूरी तरह खुलासा हो जाएगा।

- कलीम अख्तर, प्रभारी, नावाडीह थाना

Edited By: Jagran