जागरण संवाददाता, बोकारो: बिहार के पूर्णिया में गिरफ्तार आटो लिफ्टर गैंग के तीन सदस्यों ने वाहनों की चोरी का बड़ा सच उगल दिया है, जिससे बोकारो पुलिस का तनाव कुछ कम होता नजर आ रहा है। फिलहाल, अब वाहन चोरी पर सख्ती दिखाते हुए बोकारो पुलिस तीनों बदमाशों को रिमांड पर लेने की तैयारी शुरू कर दी है। गिरफ्तार बदमाशों का नाम अली हैदर उर्फ राजा, हैदर व कदरे आलम है। इन्होंने बोकारो से आधा दर्जन चार पहिया वाहन चोरी करने की बात बिहार पुलिस के समक्ष स्वीकार की है। इनके पास से बिहार पुलिस ने एक स्कार्पियो कार भी बरामद की है, जिसे इन बदमाशों ने बीते पांच जनवरी को सेक्टर चार सिटी सेंटर में एक अधिवक्ता के आवास के बाहर से चोरी किया था।

इन गिरोह ने बीएससीटी थाना इलाके से लगातार 26 और 27 जून को दो चार पहिया चोरी किया था। पेटरवार से 14 फरवरी को वाहन चोरी कर यह गिरोह ले गया था तो चास के कुंवर सिंह कालोनी से चोरों ने 27 जून को ही एक कार चोरी कर लिया था। अधिवक्ता की स्कार्पियो को तो बिहार पुलिस ने बरामद कर लिया, लेकिन अन्य वाहनों की तलाश में अब पुलिस ने वहां दबोचे गए आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ करने की योजना बनाई है। पूछताछ के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा कि यहां से चोरी गए वाहनों को कहां-कहां चोरों ने बेचा है।

बोकारो से पूछताछ करने गई पुलिस की टीम को इन आरोपितों ने बताया कि यू ट्यूब के माध्यम से वह लोग एक साफ्टवेयर को देखे थे। इसी से नए वाहनों का लाक वह लोग खोल लेते थे। इधर, चार पहिया चोरी करने वाले दूसरे गिरोह के सदस्य शैलेश मिश्रा समेत अन्य को हजारीबाग पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इस गिरोह ने भाजपा नेता लक्ष्मण नायक की सेक्टर बारह थाना इलाके से चोरी हुई स्कार्पियो समेत अन्य के बारे में जानकारी दी थी। इन आरोपितों को भी रिमांड करने की तैयारी में पुलिस ने काम शुरू कर दिया है।

Edited By: Jagran