सर्किल रेट पर चुकाना पडेगा होल्डिंग टैक्स

जागरण संवाददाता, बेरमो : झारखंड के सभी निकायों में अचानक से होल्डिंग टैक्स में वृद्धि कर दी गई है। जिसमें अब सर्किल रेट के आधार पर लोगों को टैक्स चुकाना पड़ेगा। फुसरो नगर परिषद वासियों को में रहने वाले लोगों पर होल्डिंग टैक्स का बोझ पहले की तुलना में ढाई गुना अधिक बढ़ गया है। होल्डिंग टैक्स का बोझ बढ़ने से लोगों के बजट पर भी असर पड़ेगा लोग होल्डिंग टैक्स जमा करने के लिए अभी से ही आना कानी करने लगे है। लोगों को रेजिडेंशियल व कमर्शियल के आधार पर सर्किल रेट पर तय दर के अनुसार चुकाना पड़ेगा। रेजिडेंशियल में पक्का मकान को अन्य रोड में 1.96 रुपये स्क्वायर फीट व मेन रोड में 2.35 स्क्वायर फीट एवं रेजिडेंशियल में कच्चा मकान को अन्य रोड में 1.14 रुपये स्क्वायर फीट व मेन रोड में 1.37 रुपये स्क्वायर फीट के हिसाब से होल्डिंग टैक्स देना पडेगा। वहीं कमर्शियल में पक्का मकान को अन्य रोड में 5.71 रुपये स्क्वायर फीट व मेन रोड में 6.85 रुपये स्क्वायर फीट वहीं कच्चा मकान को अन्य रोड में 5.17 रुपये स्क्वायर फीट व मेन रोड में 6.21 रुपये स्क्वायर फीट होल्डिंग टैक्स चुकाना पडेगा।

----------

सीसीएल ढोरी व बीएंडके पर भी बढ़ेगा टैक्स का बोझ : फुसरो नप क्षेत्र के अंतर्गत निवास करने वाले आम, मध्यम व खास लोगों के साथ-साथ सीसीएल ढोरी व बीएंडके एरिया के प्रबंधन पर भी होल्डिंग टैक्स का बोझ बढ़ेगा। वित्तीय वर्ष 2021-22 में एक अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2022 तक ढोरी एरिया से 68 लाख 22 हजार होल्डिंग टैक्स का डिमांड है। वहीं वित्तीय वर्ष 2021-22 में एक अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2022 तक बीएंडके एरिया से 34 लाख 68 हजार होल्डिंग टैक्स का डिमांड है, लेकिन अब तक दोनों प्रबंधन की तरफ से अभी तक यह राशि जमा नहीं किया गया है। टैक्स वसूली को लेकर फुसरो नप ने ढोरी व बीएंडके एरिया को 12 मई 2022 को तीसरा नोटिस भेज चुका है। जबकि वित्तीय वर्ष 2022-23 में सर्किल रेट पर ढोरी एरिया को लगभग एक करोड़ 48 लाख और बीएंडके एरिया को 84 लाख 68 हजार रुपये होल्डिंग टैक्स के रूप में देना पड़ सकता है।

-------------------

सर्किल रेट पर फुसरो नप का बढ़ेगा आंतरिक स्रोत : फुसरो नप में आने वाले होल्डिंग टैक्स दो गुना से अधिक हो जाएगा, जिससे फुसरो नप का आंतरिक स्रोत भी बढ़ेगा। सीसीएल ढोरी एरिया व बीएंडके एरिया को छोड़कर फुसरो नप को 8500 लोगों से सालाना लगभग 40 से 42 लाख रुपये टैक्स के रूप में आता है। टैक्स में बढ़ोतरी के कारण सर्किल रेट से सालाना लगभग एक करोड़ से अधिक होल्डिंग टैक्स के रूप में आने की संभावना जताई जा रही है। पहले तीन प्रकार के एरिया रेंटल वैल्यू के आधार पर होल्डिंग टैक्स वसूल जाता था। अब लोगों को सर्किल रेट पर होल्डिंग टैक्स देना पडेगा।

-------

कुछ इस प्रकार से रेजिडेंशियल को देना होगा टैक्स

स्क्वायर फीट -- मेन रोड ----- अन्य रोड

500 --- 1,175 -- 980

1000 ---- 2,350 -- 1,002

1500 --- 3,525 -- 2,940

2000 --- 4,700 - - 3,920

2500 -- 5,875 -- 4,900

3000 -- 7,050 -- 5,880

3500 -- 8,225 -- 6,860

4000 -- 9,400 -- 7,840

4500 -- 10,575 -- 8,820

5000 -- 11,750 -- 9,800

नोट: यह सर्किल सर्किल रेट पर रेजिडेंशियल का अनुमानित आंकड़ा रुपये में है। जबकि कमर्शियल का सर्किल रेट इससे अलग होगा।

------------------------------

पहले इस प्रकार से रेजिडेंशियल को देना होता था टैक्स

स्क्वायर फीट -- मैन रोड -- अन्य रोड

500 -- 504 -- 301

1000 --- 1,008 -- 602

1500 -- 1,512 -- 903

2000 -- 2,016 -- 1,204

2500 -- 2,520 -- 1,505

3000 --- 3,024 -- 1,806

3500 --- 3,528 -- 2,107

4000 -- 4,032 -- 2,408

4500 -- 4,536 -- 2,709

5000 -- 5,040-- 3,010

नोट: यह पहले एरिया रेंटल वैल्यू के आधार पर रेजिडेंशियल का अनुमानित आंकड़ा रुपये में है। जबकि कमर्शियल का एरिया रेंटल वैल्यू रेट इससे अलग होगा।

Edited By: Jagran