बेरमो : पिछले तीन दिनों से वर्षा होने के कारण बेरमो अनुमंडल के तेनु डैम के छह गेट खोले जाने के साथ ही कोनार डैम के भी चार रेडियल गेट (ऊपरी फाटक) शनिवार को खोल दिए गए। उससे प्रति सेकंड 15 हजार क्यूसेक पानी कोनार नदी में बहाव हो रहा है। इस कारण कोनार डैम से जुड़ी कोनार नदी में उफान आने के साथ ही दामोदर नदी भी और ज्यादा उफनने लगी। क्योंकि कोनार नदी का संगम दामोदर नदी से जारंगडीह के निकट होता है। इसलिए कोनार नदी को दामोदर की सहायक नदी कहा जाता है। तेनु डैम के छह रेडियल गेट शुक्रवार की शाम को खोले गए थे, जो अब भी खुले हुए हैं। तेनु डैम से प्रति सेकंड 44180 क्यूसेक पानी दामोदर नदी में प्रवाहित हो रहा है।

कोनार डैम डिवीजन के वरीय अभियंता पवन कुमार ने बताया कि कोनार डैम के जलाशय में पानी स्टोरेज करने की क्षमता 1397 फीट है, लेकिन सुरक्षा के लिहाज से अधिकतम 1394 फीट तक ही पानी जमा रखा जाता है। निरंतर बारिश होने के कारण शनिवार को तड़के जब लगभग 1395 फीट पानी कोनार डैम के जलाशय में जमा हो गया, तब चार रेडियल गेट खोल देना पड़ा। हालांकि, बाद में बारिश की गति में कमी आ गई। उसके बाद शाम पांच बजे तक डैम के जलाशय का जलस्तर घटकर 1391.65 फीट हो गया था। उन्होंने बताया कि कोनार डैम में कुल 11 गेट हैं, जिनमें नौ रेडियल और दो अंडर सुलिइस यानी निचले गेट हैं। इधर, बोकारो थर्मल स्थित डीवीसी के मौसम आकलन केंद्र के अनुसार पिछले तीन दिनों के दौरान बेरमो क्षेत्र में कुल 201.4 मिलीमीटर वर्षा हुई। उसके तहत 29 जुलाई को 49.6 एमएम, 30 जुलाई को 148.4 और 31 जुलाई को 3.4 एमएम बारिश हुई।

Edited By: Jagran