जागरण संवाददाता, बोकारो/पिंड्राजोरा : पिंड्राजोरा थाना इलाके में मिर्धा बार्डर पर वाहनों की जांच कर रहे एक फर्जी एएसआइ को असली पुलिसवालों ने शुक्रवार की शाम को गिरफ्तार किया। पकड़े गए फर्जी एएसआइ अपने को ट्रैफिक थानेदार का बता रहा था। इसकी जानकारी लेने और आइडी कार्ड जांच करने पर सच्चाई सामने आई। आरोपित का नाम वार्ड नंबर 11 लालगंज बारा सहरसा बिहार निवासी राहुल कुमार, पिता समरकांत झा है। वर्तमान में वह डालमिया सीमेंट फैक्ट्री में बतौर निजी सुरक्षा एजेंसी के अधीन गार्ड के रूप में काम करता था। फैक्ट्री के अंदर वह गार्ड के बैरक में रहता था।

पिंड्राजोरा थाना प्रभारी अंकित पांडेय ने बताया कि मिर्धा बार्डर पर थाने की पुलिस नियमित तौर पर जांच करती है। यहीं पर एएसआइ शमीम अंसारी अपने सहयोगियों के साथ ड्यूटी पर तैनात थे। जहां पुलिस वाले खड़े थे वहीं पर कुछ दूर आगे वाहनों को रोककर एक बाइक सवार युवक ट्रकों की जांच कर रहा था। संदेह होने पर पुलिसवाले वहां पहुंचे। आर्मी की वर्दी पहने एक युवक पुलिस सा दिखा रहा था। उससे जब जानकारी ली गई तो वह अपने को बोकारो ट्रैफिक थाने का एएसआइ बताया। संदेह होने पर उनके थाने के पुलिस कर्मियों ने इसकी सूचना आगे दी। इसके बाद थाने की पुलिस तुरंत मौके पर पहुंचे। यातायात थाना से संपर्क साधा गया तो यहां से जानकारी मिली कि किसी की बंगाल बार्डर पर ड्यूटी लगी ही नहीं है।

जब इस युवक का फोटो भेजा गया तो ट्रैफिक थाने से यह बताया गया कि उनके यहां ऐसे किसी व्यक्ति की तैनाती है ही नहीं। इसके बाद उस युवक ने अपना आईकार्ड दिखाया। आईकार्ड देखते ही स्पष्ट हो गया कि फर्जी है। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपित के बाइक की डिक्की से एक स्टार लगी एएसआइ की वर्दी भी बरामद हुई।

Edited By: Gautam Ojha