संवाद सहयोगी, ललपनिया (बेरमो) :

गोमिया क्षेत्र के लोग आवारा कुत्तों से पंगा न लें। अगर गलती से भी कुत्ते ने काट लिया तो बड़ी मुश्किल हो जाएगी। क्योंकि गोमिया स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) में पिछले 7 मार्च से एंटी रैबिज वैक्सिन उपलब्ध नहीं है। इस कारण कुत्ता काटने पर इंजेक्शन लगवाने को यहां आने वाले लोगों को निराश होना पड़ रहा है। मजबूरन, बाजार के मेडिकल स्टोर से महंगे दाम में इंजेक्शन खरीदकर लगवाना पड़ रहा है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोमिया के कर्मियों के अनुसार इस अस्पताल में कुत्ते काटे जाने के प्रतिदिन चार-पांच मरीज आते हैं। उनमें अधिकतर लोग दूरदराज से आते हैं, लेकिन अस्पताल के नोटिस बोर्ड में इंजेक्शन नहीं है लिखा देखकर बैरंग लौटने को विवश होते हैं। वहीं अस्पताल के बाहर मेडिकल स्टोर चलाने वालों की चांदी कट रही है। क्योंकि कुत्ता काटने के शिकार लोगों को उन्हीं स्टोर से महंगे दाम पर इंजेक्शन खरीदकर लगवाने को मजबूर होना पड़ रहा है। वहीं 7 मार्च के पूर्व से इंजेक्शन लगवा रहे लोग एंटी रैबिज वैक्सिन नहीं मिलने से कोर्स अधूरा रह जाने के कारण परेशान हैं। जबकि इन दिनों आवारा कुत्तों के बढ़ते आतंक के कारण मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, लेकिन सरकारी अस्पताल में एंटी रैबिज इंजेक्शन नहीं होने से उन सभी को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

आवारा कुत्ते के काटने के शिकार बड़कीपुन्नू निवासी अजय प्रजापति ने बताया कि उन्हें 7 मार्च को एक कुत्ते ने काटा था। उसके बाद एंटी रैबिज इंजेक्शन लगवाने गोमिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे तो डाक्टरों ने इंजेक्शन नहीं होने की बात कहकर लौटा दिया। तब बाहर के मेडिकल स्टोर से इंजेक्शन खरीदकर लगवाना पड़ा। अगले कोर्स के तहत सोमवार को दूसरा इंजेक्शन लगवाने के लिए अस्पताल से संपर्क किया तो भी इंजेक्शन नहीं होने की बात कहकर पल्ला झाड़ दिया गया। अंतत: बाहर के ही मेडिकल हॉल से इंजेक्शन लेना पड़ा।

--------------------

वर्जन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोमिया में एंटी रेबिज वैक्सिन बीते 7 मार्च को ही खत्म हो गया है। यह सूचना विभाग को दे दी गई है। कुत्ते काटने के मरीजों की परेशानी को देखते हुए जल्द ही एंटी रेबिज वैक्सिन उपलब्ध कराया जाएगा। - डॉ. एच बारला, प्रभारी, पीएचसी गोमिय

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस