जागरण संवाददाता, बोकारो :आशा लता केन्द्र में ²ष्टिबाधितों के लिए ईस्ट जोन फिडे रे¨टग चेस चैंपियनशिप का आयोजन किया गया। शतरंज की बिसात पर ²ष्टिबाधित खिलाड़ियों ने अपनी बौद्धिक क्षमता का प्रदर्शन किया। बेहतर प्रदर्शन के आधार पर पश्चिम बंगाल के दिवाकर पाल शतरंज के बादशाह बने। उन्होंने प्रतियोगिता में पहला स्थान हासिल किया। बिहार के सुमन कुमार दूसरे, पश्चिम बंगाल के सुदीप राजवंशी तीसरे, बिहार के शंभू कुमार राय चौथे, पश्चिम बंगाल के गणेश किस्कू पांचवें, पश्चिम बंगाल की मेघा चक्रवर्ती छठे, यहीं के शंकर चक्रवर्ती सातवें, ओड़िशा के अमर कुमार शर्मा आठवें, झारखंड के अमर कुमार शर्मा नौवें व पश्चिम बंगाल के महादेव जेना दसवें स्थान पर रहे। इसके अलावा पश्चिम बंगाल के राज कुमार नस्कर, मदन जेना, राज कुमार भगत, निमाई दास, धर्मेन्द्र पांडेय, शुभम मुंडा, ज¨सता ओपो, प्रतिमा घोष, झारखंड के आशीष पाल, पश्चिम बंगाल के इसराफुल, उत्तम महतो, अमल सरदार, झारखंड के शिव कुमार साहु, पश्चिम बंगाल के जयदीप व राहुल मोदी ने भी बेहतर प्रदर्शन किया। इन्होंने ²ष्टिबाधितों के लिए भुज में होने वाले राष्ट्र स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता में स्थान सुनिश्चित कर लिया। समापन समारोह में सम्मानित अतिथि बीएसएल के सीइओ पवन कुमार ¨सह ने विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया। इन्हें नकद राशि भी प्रदान की गई। मौके पर केन्द्र के जीके उपाध्याय, ओपी गुप्ता, जयंत कुमार भुयन, देवाशीष, मिस्टी चक्रवर्ती आदि उपस्थित थे।

By Jagran