बोकारो : धनबाद के जोड़ापोखर निवासी ठेकेदार शशिकांत सिह की हत्या करनेवाले रांची लालपुर निवासी शराब कारोबारी कृष्णा जायसवाल को हरला पुलिस बैगलुरू से गिरफ्तार की है। अदालत के आदेश पर आरोपित को पुलिस बुधवार की शाम न्यायिक हिरासत में मंडल कारा चास भेज दिया। नौ वर्षो बाद पुलिस को जायसवाल को गिरफ्तार करने में सफलता मिला। घटना वर्ष 2010 के 13 अगस्त को हरला थाना इलाके में रेलवे फाटक के पास हुई थी।

शशि अपने चालक के साथ कार से रांची जा रहे थे। रेलवे फाटक के पास दो बाइक पर सवार चार अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर व्यवसायी को बुरी तरह से घायल कर दिया था। घायल शशि के चालक ने उन्हें इलाज के लिए बीजीएच पहुंचाया। यहां 16 अगस्त को इनकी मौत हो गई। पुलिस इसके पहले मृतक के पिता राम वृक्ष सिंह की शिकायत पर घटना के एक दिन बाद 14 अगस्त को रांची के व्यवसायी कृष्णा जायसवाल के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की थी। पुलिस इस मामले में गिरफ्तारी के लिए काफी सुस्त चाल से चलती रही। पुलिस की सुस्ती के खिलाफ मृतक के परिजनों ने घटना के बाद हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। बताया जाता है कि शशि कांत हत्यारोपी कृष्णा को 60 लाख रुपये दिए थे। इसी को लेकर उसने हत्या की साजिश रची और घटना को अंजाम दिया।

10वें आइओ ने चार्ज लेते ही गिरफ्तारी के लिए शुरू किया प्रयास : बताया जाता है कि इस मामले का अभी तक नौ अनुसंधानकर्ता अनुसंधान कर चुके थे। घटना के दो वर्षो बाद 2012 में हत्यारोपित के लालपुर के पते पर पुलिस कुर्की जब्ती की कार्रवाई पूरी की। इसके बाद इस मामले में कोई बड़ी कार्रवाई नहीं हो सकी। बताया जाता है कि वर्तमान थाना इंचार्ज जय गोविद प्रसाद गुप्ता इस मामले का चार्ज लिए तो अनुसंधान को गति देना शुरू किए। बीते सितंबर माह में हत्यारोपित की गिरफ्तारी नहीं होने पर इसे फरार दिखाते हुए अदालत में पुलिस ने आरोप पत्र समर्पित कर दिया। आरोप पत्र समर्पित करने के बाद भी थाना इंचार्ज गिरफ्तारी का प्रयास लगातार करते रहे। सूचना मिली कि हत्यारोपी बैगलुरू में छिपकर रहा रहा है। यहां पुलिस पहुंची और इसे गिरफ्तार कर ले आई। इधर घटना को अंजाम देने वाले शूटरों को पुलिस आज तक नहीं खोज सकी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप