जागरण संवाददाता, बोकारो: राज्य सरकार ने युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना का आरंभ किया है। इस योजना से राज्य के युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने का प्रयास किया जाएगा। सरकार ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र के नागरिकों को स्वरोजगार प्रदान करने के लिए 25 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान करेगी। यह ऋण कम ब्याज पर प्रदान किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत सरकार 40 फीसद तक अनुदान भी देगी। अनुदान की अधिकतम राशि पांच लाख रुपये है। इस योजना का लाभ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक, पिछड़ा वर्ग तथा सखी मंडल की दीदियां उठा सकती हैं। उक्त बातें उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना की जिला स्तरीय समिति की बैठक के दौरान कही। उपायुक्त ने इस योजना के प्रचार-प्रसार एवं अर्हता पूरा करने वाले जरूरतमंदों का आवेदन संग्रह करने के लिए जेएसएलपीएस, एनयूएलएम (अर्बन), उद्योग विभाग के प्रखंड समन्वयकों आदि को सक्रिय करने का निर्देश अधिकारियों को दिया। साथ ही, सभी को अलग-अलग लक्ष्य निर्धारित करने को कहा। अगली बैठक से संबंधित सभी इकाईयों के जिला प्रबंधक को उपस्थिति सुनिश्चित करने की बात कही। बैठक में, मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना का लाभ लेने के लिए प्राप्त कुल 62 आवेदनों पर चर्चा की गई। उपायुक्त ने प्राप्त आवेदनों की जानकारी लेते हुए अग्रतर कार्रवाई के लिए जरूरी दिशा-निर्देश दिया।

बता दें कि लाभुक के चयन के लिए जिला स्तरीय समिति में उपायुक्त अध्यक्ष, उप विकास आयुक्त उपाध्यक्ष, निगम के कार्यपालक पदाधिकारी एवं जिला कल्याण पदाधिकारी सदस्य सचिव एवं परियोजना निदेशक आइटीडीए, लीड बैंक मैनेजर, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र व जिला परिवहन पदाधिकारी सदस्य हैं। बैठक में उपविकास आयुक्त जयकिशोर प्रसाद, चास एसडीओ दिलीप प्रताप सिंह शेखावत, जिला परिवहन पदाधिकारी संजीव कुमार, चास नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी विवेक सुमन, जिला कल्याण पदाधिकारी रविशंकर मिश्र मुख्य रूप से उपस्थित थे।

Edited By: Jagran