संवाद सहयोगी, पौनी : तहसील पौनी की पंचायत लेतर मगाई व लेतर में पंचायत बीएलओ की तरफ से गलत तरीके से बनाए गए 42 वोट डिलीट कर दिए गए। इसमें पंचायत मगाई लेतर के वार्ड नंबर दो डंगा निवासी मोहनलाल के परिवार सहित चार वोट भी शामिल हैं। मोहनलाल ने पंचायत मंगाई लेतर के वार्ड नंबर दो से अपना वोट अदला-बदली करने के बाद लेतर पंचायत के वार्ड नंबर एक में बनवाया था ताकि वह सरपंच के लिए पंचायत लेतर से चुनाव लड़ सके।

लेतर पंचायत से सरपंच उम्मीदवार के लिए नामांकन करने वाले द्वारकानाथ व पूर्व पंच शामलाल ने इसकी शिकायत तत्काल डीसी प्रसन्ना रामास्वामी से की थी जिन्होंने जांच के आदेश दिए थे। इन्क्वायरी में सबसे पहले इंस्पेक्टर पंचायत पौनी सूरम ¨सह ने मौके पर रिपोर्ट तैयार करने के बाद बीडीओ पौनी को सौंपी थी। डीसी के पास जांच रिपोर्ट पहुंचने के बाद उन्होंने तीन सदस्यों की एक और कमेटी गठित की जिसमें जांच कमेटी गठित की, जिसमें एसीआर रियासी हरबंस लाल, तहसीलदार भमाग अक्षय राजन बीडीओ पौनी ओमप्रकाश शामिल थे। जब जांच की गई तो पाया गया कि दोनों पंचायतों में गलत तरीके से वोटों की अदला-बदली की गई थी जिस पर मोहन लाल के परिवार सहित कुल 42 वोटों को डिलीट कर दिया गया। तत्काल डीसी प्रसन्ना रामास्वामी जी के तबादले के बाद कोई भी अधिकारी डिलीट किए गए वोटों की पुष्टि नहीं कर रहा था, लेकिन इसकी जानकारी सोमवार को तब पूरी तरह से स्पष्ट हो गई जब मोहनलाल द्वारा अपनी पंचायत मगाई लेतर की वार्ड नंबर 3 से निर्विरोध पंच उम्मीदवार के लिए अपना नामांकन भरा। इसके साथ ही लेतर पंचायत के वार्ड नंबर 4 और 5 से वार्ड नंबर 1 में गलत तरीके से जोड़े गए 38 वोटों को भी डिलीट कर दिया गया है।

शिकायतकर्ता द्वारकानाथ व शामलाल ने कहा कि सच्चाई की जीत हुई है। इसके लिए वह स्थानीय प्रशासन के आभारी हैं।

लेतर पंचायत में गलत पाए गए 42 वोटों को डिलीट कर दिया गया है। उनके वोट फिर से अपनी पंचायत व वार्ड में बना दिए गए हैं। अब वह लोग अपनी पंचायत व वार्ड में मतदान करेंगे।

ओमप्रकाश, ईआरओ एवं बीडीओ पौनी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस