संवाद सहयोगी, किश्तवाड़: वीरवार को भद्रवाह में हुए तनाव को लेकर किश्तवाड़ में भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। हर चौक चौराहे पर पुलिस सीआरपीएफ आइटीबीपी के जवान तैनात कर दिए गए हैं और सेना इलाके पर नजर रखे हुए हैं, क्योंकि शुक्रवार को किश्तवाड़ सनातन धर्म सभा ने आरएसएस नेता चंद्रकांत शर्मा की हत्या के मामले में बंद का आह्वान किया है। इसी को मद्देनजर रखते हुए प्रशासन व सुरक्षाबलों को परेशानी हो रही है कि कहीं यह मामला और ज्यादा आगे ना निकल जाए, क्योंकि सनातन धर्म सभा के बंद के आह्वान को किश्तवाड़ की ट्रेड एसोसिएशन ने भी समर्थन किया है। जम्मू तथा कई शहरों से इस बंद के समर्थन की खबरें आ रही हैं। क्योंकि वीरवार को भद्रवाह में भी संप्रदायिक तनाव चल रहा था लेकिन किश्तवाड़ मैं स्थिति शांतिपूर्ण रही लेकिन शुक्रवार को सनातन धर्म सभा किश्तवाड़ की बंद की काल पर प्रशासन तथा पुलिस के लिए यह एक बहुत बड़ी चुनौती बन गई है कि कहीं ऐसा ना हो कि किश्तवाड़ के लोग रैली निकालकर प्रदर्शन करें। और शुक्रवार को जुमे की नमाज बी अता की जाती है। आज क्यों कल मुस्लिम समुदाय के रमजान का महीना चल रहा है जिसके चलते ज्यादा से ज्यादा लोग जुमे की नमाज अता करने के लिए जामीया मस्जिद में जाते हैं और मुस्लिम समुदाय के लोगों मैं भी भद्रवाह में हुए नईम अहमद शाह की हत्या को लेकर रोष है। ऐसे में कहीं किश्तवाड़ में भी दोनों समुदाय के बीच में कोई तनाव कि तितली ना हो इसलिए सारी एजेंसियां चोकनी हो गई है। इस बारे में डीसी किश्तवाड़ अंग्रेज सिंह राणा का कहना था कि हर स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी कर रखी है और सुरक्षाबलों को इजाजत दी गई है कि अगर आपको बल प्रयोग करना भी पढ़े तो कर सकते हैं ताकि इलाके का माहौल शांतिपूर्वक बना रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप