संवाद सहयोगी, किश्तवाड़ : तहसील छात्रु में मलिकपुरा गांव में सोमवार देर रात अचानक आग लग गई। आग इतनी भयंकर थी कि देखते ही देखते तीन घर जलकर राख हो गए। आग लगने का जैसे ही छात्रु में स्थित सेना व पुलिस को पता लगा तो उन्होंने तुरंत कार्रवाई करते हुए स्थानीय लोगों के साथ मिलकर राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया।

सेना के जवानों ने वहां पर पहुंचते ही सबसे पहले घरों के अंदर से परिवार के लोगों को निकाला, जो कि मकानों के अंदर सो रहे थे और वहां पर बुरी तरह से फंस चुके थे। उसके बाद सेना व स्थानीय लोगों ने आग को बुझाने के प्रयास शुरू किए, लेकिन आग इतना भीषण रूप अख्तियार कर चुकी थी कि उसे बुझाना बहुत मुश्किल हो रहा था। कुछ समय बाद दमकल विभाग का वाहन भी पहुंच गया और सब मिलकर आग बुझाने का प्रयास करने लगे। लेकिन तब तक अहमद मलिक पुत्र कबीर मलिक, मोहम्मद अमीन पुत्र अमदु मलिक और सज्जाद हुसैन के घर जलकर राख हो गए। आग लगने का कारण नहीं पता चला है। पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

वहीं, मंगलवार को सुबह एक टाटा मैजिक आटो नौशहरा से सामान व यात्रियों को लेकर चौकी गांव की तरफ जा रहा था कि अचानक उसमें आग लग गई। जिस समय आटो में आग लगी, उस समय उसमें चालक के साथ दो यात्री थे और उसमें सामान रखा हुआ था। जैसे ही आटो में आग लगी, चालक और यात्री बाहर निकल गए। जिसके बाद वहां से गुजर रहे लोग मदद के लिए आगे आए और पानी डाल कर आग पर काबू पाया। मौके पर पहुंची दमकल विभाग की टीम ने आग पर काबू पाया। इस घटना में आटो का काफी नुकसान हुआ। इसके बाद आटो को मुख्य मार्ग से हटाकर वाहनों की आवाजाही को बहाल किया गया। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया है।

Edited By: Jagran