संवाद सहयोगी, पौनी : डब खालसा और भारख के नाला गांव में मंगलवार देर रात तेंदुए ने दो घोड़ों और दो बकरियों पर हमला कर मार डाला। इससे ग्रामीणों में वाइल्ड लाइफ और वन विभाग के खिलाफ काफी रोष है।

ग्रामीणों का कहना है कि तेंदुए ने गुज्जर-बक्करवाल समुदाय के मंजूर अहमद पुत्र बशीर अहमद निवासी डब खालसा के दो घोड़ों और मुहम्मद रफीक की दो बकरियों को मार दिया है। तेंदुए के आतंक को लेकर संबंधित विभाग को कई बार अवगत कराया गया है, लेकिन लोगों की परेशानी की ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तेंदुआ आए दिन ग्रामीणों के मवेशियों को अपना शिकार बना रहा है, लेकिन प्रशासन की तरफ से तेंदुए के आतंक को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है। अगर प्रशासन द्वारा क्षेत्र में तेंदुए के आतंक को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया तो क्षेत्र के लोग पौनी-भांवला मार्ग बंद करने पर मजबूर हो जाएंगे। इस दौरान मंजूर अहमद द्वारा तहसीलदार पौनी को मुआवजे के लिए आवेदन दिया गया है।

इस संबंध में रेंज अधिकारी पौनी वरिद्र सिंह कहना है कि तेंदुए के आतंक को रोकने के लिए वन्य जीव संरक्षण विभाग से बात कर समस्या से निजात दिलाई जाएगी। इसके अलावा पीड़ितों को मुआवजा दिलाने की भी कोशिश करेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप