जागरण संवाददाता, ऊधमपुर :

बारिश के कारण गत मंगलवार को सतैनी में हुए जलभराव के बाद पानी निकालने का काम वीरवार को भी जारी रहा। हालांकि ज्यादातर हिस्सों से पानी निकाला जा चुका है, और जमीन भी सूखने लगी है। तहसीलदार ऊधमपुर और बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारियों ने वीरवार को भी सतैनी में मौजूद रह कर पानी निकालने का काम जारी रखा। वहीं लोगों के घरों में भरा पानी निकलने के बाद स्थिति बेहतर हुई है। लोग जलभराव से भीगे सामान को सुखाते और मकानों में साफ सफाई करते नजर आए।

गौरतलब है कि लगातार हो रही बारिश के बाद मंगलवार को हुई बारिश के बाद सतैनी में काफी जलभराव हो गया था। वहीं पानी के दबाव के कारण खाली प्लॉटों में से एक की दीवार टूटने से दीवार के पीछे जमा पानी लोगों के घरों और दुकानों में चला गया। जिससे लोगों का काफी नुकसान हुआ। इस घटना के बाद प्रशासन और बाढ़ नियंत्रण विभाग, पुलिस और एसडीआरएफ सहित अन्य मौके पर पहुंच गए। बाढ़ नियंत्रण विभाग ने पहले ही तैनात दो बड़े पंपों की मदद से पानी को निकालने का काम शुरु कर दिया। इसके बाद और दो पंप सतैनी में पहुंचाए गए और पानी निकालने का काम शुरूहुआ। डीसी ऊधमपुर ने भी खुद दौरा कर पानी की बीच से होकर लोगों तक पहुंच कर उनकी परेशानी और समस्या की जानकारी ली।

मंगलवार से प्रशासनिक अधिकारियों के सात बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारी लगातार सतैनी में पहुंच कर पानी निकालने के काम का जायजा ले रहे हैं। इसके साथ जो दीवारे पानी को रोकने रही थी, उनमें पानी की निकासी के लिए सुराख बना दिए गए हैं। पानी को लगातार निकाले जाने के जारी काम के कारण ज्यादातर हिस्सों से पानी निकल चुका है। इसमे जलभराव के कारण कई फीट जमा पानी वाले इलाकों में जमीन भी सूखनी शुरू हो गई है।

अधिकांश हिस्सों से निकल चुका है पानी

इस बारे में बाढ़ नियंत्रण विभाग के जेई विनोद कुमार ने बताया अब पहले के मुकाबले स्थिति काफी बेहतर हो गई है। ज्यादातर हिस्सों से पानी निकला जा चुका है और निचले और गहराई वाले हिस्सों में पानी एक फीट से कम हो गया है। पानी निकालने के बाद काफी जमीन सूखने भी लगी है। सतैनी में कुल चार पंप हैं, जिसमें दो पंप छोटे हैं, जिनको दो से तीन घंटों तक चलाने के बाद विश्राम देना पड़ता है। जबकि दो बड़े पंप निरंतर पानी निकालने में लगे हैं। सतैनी में दो और बड़े पंप तैनात किए जाएंगे। इस बारे में तहसीलदार ऊधमपुर ने कहा कि सतैनी में जलभराव के बाद से वह और नायब तहसीलदा रौं लगातार जायजा ले रहे हैं।

पानी निकालने में जुटा बाढ़ नियंत्रण विभाग

बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारी भी पानी निकलवाने का काम करवा रहे हैं। इसके साथ ही पानी की निकासी बाधित न हो और पहले जैसी समस्या न हो इसके लिए भी काम किया जा रहा है। प्राथमिकता जमा पानी को पूरी तरह से निकाल कर लोगों को राहत देने की है। इसके बाद डीसी ऊधमपुर के निर्देशों के मुताबिक इस समस्या के स्थायी समाधान के लिए काम किया जाएगा।