राकेश शर्मा, कटड़ा :

मां वैष्णो देवी के मुख्य पुजारी अमीर चंद के अंतिम दर्शन को लेकर अपार जनसमूह उमड़ पड़ा। मां वैष्णो देवी के जयकारों के बीच लोगों ने मुख्य पुजारी अमीर चंद जी को अश्रुपूर्ण विदाई दी। उनके बड़े बेटे लोकेश पुजारी ने जब मुखाग्नि दी तो पूरा वातावरण गमगीन हो गया। कटड़ा श्मशान घाट पर डिविजलन कमिश्नर (डिवकाम) जम्मू रमेश कुमार सहित प्रशासन, पुलिस व श्राइन बोर्ड के अधिकारी मौजूद रहे।

मां वैष्णो देवी के मुख्य पुजारी अमीर चंद का शनिवार को सुबह 8:00 बजे हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया। समाचार मिलते ही स्थानीय निवासियों के साथ ही पुलिस व प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उनके निवास स्थान पुजारी आश्रम पहुंचे। पुजारी जी के सम्मान में कटड़ा के अधिकांश व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे। दिन में 3:00 बजे फूलों से सजी गाड़ी में उनका पार्थिव शरीर सजाया गया। शवयात्रा पुजारी आश्रम से शुरू होकर ऊधमपुर मार्ग, मुख्य बस अड्डा, मुख्य बाजार आदि से होकर कटड़ा के श्मशान घाट पर संपन्न हुई। हजारों की संख्या में स्थानीय निवासियों के साथ ही आसपास के ग्रामीण व देशभर से आए श्रद्धालु शवयात्रा में शामिल थे। जैसे ही शवयात्रा आगे बढ़ती गई, स्थानीय लोगों के साथ ही श्रद्धालुओं ने पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। सनातन धर्म के रीति रिवाज से कटड़ा के श्मशान घाट पर अमीर चंद पुजारी का अंतिम संस्कार कर दिया। उनके बड़े बेटे लोकेश पुजारी ने मुखाग्नि दी। डिविजनल कमिश्नर (डिवकाम) जम्मू सहित प्रशासन व पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने पुजारी के अंतिम दर्शन किए। अंतिम संस्कार के समय श्मशान घाट पर ये लोग रहे मौजूद :

कटड़ा श्मशान घाट पर मुख्य पुजारी अमीर चंद के अंतिम संस्कार के समय डिविजनल कमिश्नर जम्मू रमेश कुमार के साथ ही जिला उपायुक्त रियासी बबिला रकवाल, डीआइजी ऊधमपुर-रियासी रेंज सुलेमान चौधरी, एसपी कटड़ा अमित भसीन, एसडीपीओ कुलजीत सिंह, एसएचओ निशांत गुप्ता के अलावा श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के सीईओ अंशुल गर्ग, एडिशनल सीईओ नवनीत सिंह, श्राइन बोर्ड प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी, पूर्व राज्यमंत्री अजय नंदा, पूर्व स्थानीय विधायक बलदेव राज शर्मा, भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र राणा, पूर्व विधायक ऊधमपुर पवन गुप्ता के अलावा विभिन्न राजनीतिक संगठन, सामाजिक संगठन, धार्मिक संगठनों के सदस्य, स्थानीय निवासी, आसपास के ग्रामीण व देशभर से मां वैष्णो देवी के दर्शन को आए श्रद्धालु मौजूद थे। पार्थिव शरीर को माता की लाल चुनरी में लपेटा गया था :

फूलों से सजी गाड़ी में अमीर चंद पुजारी के पार्थिव शरीर को माता की लाल चुनरी में लपेट कर रखा गया था। उनके चेहरे पर मां वैष्णो देवी की लालिमा साफ झलक रही थी। ऐसा प्रतीत हो रहा था कि मानो ध्यानमग्न होकर मां वैष्णो देवी की आराधना कर रहे हों। शनिवार शाम को पंचतत्व में विलीन होते ही पुजारी अमीर चंद मां वैष्णो देवी के चरणों में समां गए। विभिन्न संगठनों ने शोक जताया :

मां वैष्णो देवी के मुख्य पुजारी अमीर चंद के निधन पर राजनीतिक दलों के साथ ही सामाजिक व धार्मिक संगठनों ने गहरा शोक व्यक्त किया है। शिवदर्शन मंदिर कमेटी के प्रधान राकेश शर्मा, उपप्रधान विकास शर्मा, कोषाध्यक्ष देवराज बाली, वरिष्ठ सदस्य शिव दुबे, संजय दुबे, राकेश दुबे, संजय अरोड़ा, राकेश पराशर, जुगल पराशर, पंडित सुरेंद्र शर्मा आदि ने गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि विनम्रता, आध्यात्मिक, समाजसेवी मां वैष्णो देवी के मुख्य पुजारी अमीर चंद के अचानक इस दुनिया से चले जाने का विश्वास तक नहीं हो रहा है। उनके निधन से कटड़ा में जो शून्य में पैदा हुआ है, उसे कभी भी भरा नहीं जा सकता। मां वैष्णो देवी उनके परिवार को दुख सहने की शक्ति प्रदान करें। वहीं, रघुनाथ मंदिर कमेटी, ट्रैवल एजेंट्स एसोसिएशन, टैक्सी यूनियन, भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस, शिवसेना, नेशनल कांफ्रेंस आदि पाटियों के नेताओं ने भी गहरा दुख व्यक्त किया है।

Edited By: Jagran