संवाद सहयोगी, रियासी : बैंड की धुन पर देशभक्ति गीत गाते कदमताल करते राष्ट्रीय स्वयंसेवकों के पथ संचलन का कस्बे में लोगों ने पुष्प वर्षा कर अभिनंदन किया। इस दौरान माहौल पूरी तरह से देशभक्ति के जज्बे से सरावोर हो गया। पथ संचलन कस्बे के दो जगहों से शुरू किया गया, जबकि मुख्य कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय ओपन एयर थिएटर में हुआ।

संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि दंगे व खराब माहौल के दौरान जिस तरह देशभक्त सेना फ्लैग मार्च करती है, पथ संचलन भी लगभग उसी तरह के जैसा है। पथ संचलन दो जगहों ओपन एयर थिएटर और भारतीय विद्या मंदिर स्कूल से निकाला गया। दोनों ही तरफ से बड़ी संख्या में दंड और गणवेश धारण किए राष्ट्रीय स्वयंसेवक बैंड की धुन पर केसरिया ध्वज लिए देशभक्ति गीत गाते निकल पड़े। कस्बे के मुख्य बाजार, चौराहों तथा गलियों से होते दोनों जगहों से निकले स्वयंसेवक मुख्य बस अड्डा में पहुंचकर एक हो गए। इससे पथ संचलन का कारवां इतना लंबा हो गया कि एक जगह से पथ संचलन का दूसरा छोर नजर नहीं आ रहा था। पथ संचलन में शामिल स्वयंसेवकों में देशभक्ति का जज्बा और जुनून इस कदर रहा कि जिन जगहों से भी पथ संचलन गुजरा, वहां स्वयंसेवकों के बूटों की धमक से मानो धरती भी थर्रा रही थी। स्थानीय लोगों ने पथ संचलन में शामिल स्वयंसेवकों पर पुष्प वर्षा की। पथ संचलन में शामिल स्वयंसेवकों के मुख्य आयोजन स्थल ओपन एयर थिएटर पहुंचने पर संघ के पदाधिकारियों ने पथ संचलन का उद्देश्य बताते हुए कहा कि दंगे तथा खराब माहौल के दौरान जब सेना फ्लैग मार्च करती है तो आम लोगों को यह महसूस होता है कि उनकी सुरक्षा के लिए कोई है। पथ संचलन भी सेना के ही फ्लैग मार्च के जैसा है। इससे लोगों में सुरक्षा की भावना पैदा होती है। लोगों में यह एहसास होता है कि अगर कोई विपरीत स्थिति उत्पन्न होती है तो राष्ट्रीय स्वयंसेवक भी उनकी मदद व सुरक्षा के लिए तत्पर हैं। इस कार्यक्रम में पूर्व राज्यमंत्री एवं पूर्व स्थानीय विधायक अजय नंदा भी शामिल हुए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप