जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : फंदा लगाकर जान देने वाले निजी स्कूल के विद्यार्थियों के परिजनों व मुहल्ले के लोगों ने मंगलवार को ऊधमपुर थाना के बाहर स्कूल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई की मांग को प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि स्कूल में प्रताड़ित किए जाने की वजह से छात्र ने आत्महत्या की है। वहीं, स्कूल प्रशासन ने परिजनों के लगाए प्रताड़ना के आरोप को नकारा है। पुलिस ने लड़के के पास से मिले सुसाइड नोट और परिजनों की शिकायत के आधार पर जांच और कार्रवाई शुरू कर दी है।

बता दें गत दिनों सुभाष नगर में रह रहे मूल रूप से क्रिमची निवासी सुजल मगोत्रा ने संदिग्ध परिस्थितियों में घर में फंदा लगा कर जान दे दी थी। मंगलवार को सुजल मगोत्रा की बहन सहित अन्य परिजनों व मुहल्ले के लोगों ने ऊधमपुर थाना के बाहर प्रदर्शन कर स्कूल प्रशासन को सुजल की मौत का जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि स्कूल में लगातार सुजल को प्रताड़ित किया जाता रहा। जिस बारे में वह अक्सर घर के लोगों को बताता था और उस स्कूल में न पढ़ने की बात हर वक्त कहता था। उसने कहा कि स्कूल में उसे इस हद तक प्रताड़ति किया जाता रहा कि उसे मौत को गले लगाना जीने से आसान लगा। प्रदर्शनकारियों ने सुजल की मौत के जिम्मेदार स्कूल प्रशासन और शिक्षकों पर कार्रवाई की मांग करने के साथ स्कूल को बंद कराने की मांग भी की। उन्होंने आरोप लगाया कि इससे पहले भी बच्चों की प्रताड़ना के मामले स्कूल में हो चुके हैं। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने एसएसपी से मुलाकात की और सारी जानकारी देकर कार्रवाई की मांग की।

वहीं, इस बारे में स्कूल की ¨प्रसिपल से संपर्क करने पर उन्होंने सुजल के परिजनों और प्रदर्शनकारियों द्वारा लगाए आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि सुजल को किसी तरह से प्रताड़ित नहीं किया गया। सुजल स्कूल का औसत विद्यार्थी था, मगर छुट्टियों के बाद से उसका प्रदर्शन लगातार गिर रहा था। जिस बारे में उसके परिजनों को अवगत कराया जाता रहा। यहां तक कि कुछ समय पहले हुए यूनिट टेस्टों में भी उसने दो ही पेपर दिए। पता यह भी चला है कि उसने स्कूल में कुछ दोस्तों से पैसे उधार लिए थे। साथ ही घर से बोर्ड परीक्षा फीस और पेपर मनी के पैसे जमा कराने की बात झूठ बोल कर घर से पैसे लिए थे।

इस संबंध में एसएसपी ऊधमपुर मुहम्मद रईस भट्ट ने कहा कि परिजनों ने प्रदर्शन के बाद उनसे मुलाकात कर अपनी बातें रखी है। पुलिस ने संदिग्ध मौत का मामला दर्ज कर जांच और कार्रवाई शुरू की है। सुजल के लिखे सुसाइड नोट में लिखी गई बातों के आधार पर जांच करने के साथ सुसाइड नोट को एफएसएल जांच के लिए भेजा है। परिजनों के साथ स्कूल प्रशासन और उसके सहपाठियों से पूछताछ की जा रही है। जल्द ही सारे मामले का खुलासा कर दिया जाएगा। यदि आरोपों के मुताबिक कोई दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran