संवाद सहयोगी, ऊधमपुर: वीरवार को बलबंत सिंह मनकोटिया ने अपने कार्यालय में एक आपातकालीन बैठक बुलाई। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि लगभग पांच महीने से जम्मू संभाग में इंटरनेट बंद है। इससे न सिर्फ विद्याíथयों की पढ़ाई पर खासा असर पढ़ रहा है, बल्कि कई कारोबार बंद हो चुके हैं। केंद्र सरकार का डिजिटल इंडिया का सपना चकनाचूर हो चुका है। मनकोटिया ने कहा कि सरकार का मानना है कि 370 और 35-ए हटाने के बाद जम्मू में हालत खराब होंगे, लेकिन हमारे लोगों ने दिल खोल कर इसका समर्थन किया और किसी किस्म का विरोध प्रदर्शन भी नहीं किया। फिर भी सरकार ने जम्मू संभाग में इंटरनेट बंद कर रखा है।

मनकोटिया ने पूर्व विधायक पवन गुप्ता को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उन्होंने 2014 के विधानसभा चुनाव में उधमपुर में फ्री वाईफाई सुविधा देने का वादा किया था, लेकिन अब जबकि पांच महीने से इंटरनेट बंद है, तो उनकी जुबान पर ताला लगा हुआ है। इससे साबित होता है कि वे उधमपुर की भोली-भाली जनता को गुमराह कर कुर्सी पर काबिज हुए थे। मनकोटिया ने कहा कि हमने इंटरनेट बहाली के लिए सात दिसंबर को जम्मू बंद की काल दी थी और लोगों का समर्थन भी मिला, लेकिन सरकार ने हमें दो दिन जेल में बंद कर जम्मू बंद को असफल करवाया। वह सोचती है कि इससे वह जनता की आवाज दबा देगी, लेकिन पैंथर्स पार्टी सरकार के दबाव में नहीं आएगी और इंटरनेट बहाली के लिए संघर्ष करती रहेगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस