संवाद सहयोगी, पौनी : जम्मू संभाग के रियासी जिले के पौनी कस्बे से सात किमी दूर कोठियां स्थित संत आश्रम में शुक्रवार तड़के हनुमान जी की प्रतिमा खंडित करने के मामले को 24 घंटे में ही पुलिस ने सुलझा दिया है। पौनी पुलिस ने आश्रम में दो दिन से रह रहे मध्य प्रदेश निवासी एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। इससे पहले पुलिस ने पिछले दो दिनों में करीब दो दर्जन लोगों से पूछताछ की और आसपास के क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को भी खंगाला था।

शनिवार सुबह एसएसपी रियासी रश्मि बजीर के निर्देश पर एएसपी एसके चौहान, डीएसपी वसीम हमदानी की देखरेख में एसएचओ पौनी आश्रम में रह रहे एक व्यक्ति को शक के आधार पर पुलिस स्टेशन में लाए। पुलिस द्वारा उक्त व्यक्ति से कड़ी पूछताछ के दौरान उसने हनुमान जी की प्रतिमा को खंडित करने की बात को कबूल लिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपित ने बताया कि वह पिछले दो दिन से आश्रम में रह रहा था। उसे स्थानीय लोगों ने कमरे में रहने की अनुमति नहीं दी थी, जिसको लेकर उसने इस घटना को अंजाम दिया है।

एसएचओ पौनी सुमित शर्मा का कहना है कि आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। आरोपित लोगों को साधु बताकर आश्रम में रह रहा था। आरोपित की पहचान दीपानंद सरस्वती पुत्र मोहन लाल निवासी गांव नया, तहसील जबाड़, जिला नीमच, मध्य प्रदेश के रूप में की है। वहीं, एसएसपी रियासी रश्मि वजीर ने भी पौनी क्षेत्र का दौरा कर घटना के बारे में सारी जानकारी जुटाई है। एसएसपी ने लोगों से आरोपित के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के बात कही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप