संवाद सहयोगी, कटड़ा : मां वैष्णो देवी देवी के आधार शिविर कटड़ा में जारी नवरात्र महोत्सव के तहत रिजिनल आउटरीच ब्यूरो ने हायर सेकेंडरी स्कूल परिसर में धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन निरंतर जारी रखा है। बुधवार को हुए कार्यक्रमों में एक मंच पर कई राज्यों की संस्कृति झलकी। इसमें जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, महाराष्ट्र, राजस्थान के कलाकारों ने नृत्य पेश कर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। इससे पहले कार्यक्रम का शुभारंभ अतिरिक्त आयुक्त टैक्स विभाग एसके शर्मा ने दीप जलाकर किया।

कार्यक्रम में हिमाचल प्रदेश के कलाकारों ने लंबड़ा नृत्य, ओडिशा के कलाकारों ने संबलपुरी नृत्य, जम्मू कश्मीर के कलाकारों ने कश्मीरी रौफ नृत्य व माता की भेंटे, महाराष्ट्र के कलाकारों ने लावणी नृत्य, राजस्थान के कलाकारों ने काल वेला नृत्य प्रस्तुत कर अपनी कला का प्रदर्शन किया, लेकिन हिमाचल प्रदेश के कलाकारों ने लोक नृत्य लंबड़ा पेश कर खूब वाही वाही लूटी। इस कार्यक्रम का आयोजन रिजिनल आउटरीच ब्यूरो के दुर्गा प्रकाश, विक्रम उप्पल, विजय मट्टू, नीरज शर्मा, रामलाल की ओर से किया गया था। इस मौके पर विभिन्न प्रशासनिक अधिकारी, स्थानीय निवासी और श्रद्धालु मौजूद रहे। विजय दशमी पर इस बार भी ऊधपमुर में नहीं होगा रावण दहन

जागरण संवाददाता,ऊधमपुर : कोरोना महामारी के कारण इस बार भी दशहरा पर्व पर ऊधमपुर में रावन दहन नहीं होगा। इसके साथ ही रामनवमी पर सनातन धर्म सभा की ओर से निकाली जाने वाली शोभायात्रा भी नहीं निकाली जाएगी।

कोरोना महामारी की वजह से लगातार दूसरे वर्ष भी ऊधमपुर में दशहरा उत्सव आयोजित नहीं होगा। इस बारे में राम कला केंद्र के वरिष्ठ पदाधिकारी कमल मल्होत्रा ने बताया कि इस वर्ष जम्मू में रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले बनाने वाले कारीगर नहीं आए। इसके साथ ही रामलीला मंचन की अनुमति भी नहीं थी। बिना रामलीला और बिना पुतलों के दशहरा उत्सव संभव नहीं था। इसके कारण इस वर्ष भी इस दशहरा उत्सव का आयोजन नहीं करने का फैसला दशहरा उत्सव समिति पहले ही ले चुकी है।

दशहरा उत्सव पर राम कला केंद्र चबूतरा बाजार की ओर से शहर में भगवान राम की शोभायात्रा निकाली जाती थी। जो राम कला केंद्र से दशहरा उत्सव स्थल सुभाष स्टेडियम तक जाती थी। जहां पर कलाकार रावण दहन की रस्म अदा करते थे। मगर कोरोना महामारी की वजह से दूसरे वर्ष भी रामलीला और दशहरा आयोजन नहीं होने से लोग व्यथित है।

वहीं इस बार कोरोना महामारी की वजह से सनातन धर्म सभा की ओर से भी रामनवमी पर निकाली जाने वाले शोभायात्रा निकाली गई। सनातन धर्म सभा के अध्यक्ष एडवोकेट विजय कुमार ने बताया कि कोरोना की वजह से शोभायात्रा के लिए मंजूरी भी नहीं मिली। तीसरी लहर आने की आशंकाएं भी जताई जा रही है। यही वजह है कि इस वर्ष रामनवमी पर शोभायात्रा न निकालने का फैसला लिया गया।

Edited By: Jagran