जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : जियो और जीने दो संगठन की ओर से शनिवार को नेशनल हाईवे पर उड़ने वाली धूल मिट्टी से बचाव के प्रति राहगीरों को जागरूक किया गया।

संस्था के अध्यक्ष तारिश शाह व अन्य सदस्यों ने हाईवे से गुजरने वाले दोपहिया वाहन चालकों व अन्य लोगों को धूल से सेहत पड़ने वाले दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी दी। शाह ने बताया कि पिछले हफ्ते में हाईवे पर जायजा लेने के दौरान पाया कि आसपास रहने वाले घरों से लेकर दुकानदारों को अधिक धूल के कारण सांस और छाती से संबंधित रोग हो रहे हैं। निर्माण के दौरान निर्माण सामग्री और मलबा सूर्यपुत्री तवी किनारे फेंका जा रहा है। इस वजह से लोगों के घरों में दूषित पानी की आपूर्ति हो रही है। उन्होंने डीसी से इस समस्या के हल के लिए उचित कदम उठाने को कहा। ऐसा न करने पर संस्था ने अदालत की शरण में जाने की चेतावनी दी है। संस्था ने वहां से गुजरने वाले लोगों को धूल से बचाव के लिए मास्क पहन कर चलने को प्रेरित किया तथा उनको मास्क भी पहनाए।

Posted By: Jagran