जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : प्रधान सत्र न्यायाधीश उधमपुर वाई पी बर्नी ने मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त एक व्यक्ति को दोष सिद्ध होने के बाद 12 वर्ष के कारावास और दो लाख जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना राशि का भुगतान न करने पर अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।

ऊधमपुर जिले की कुद पुलिस ने 25 मार्च 2013 को कराल नाला के पास राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगाए नाके पर नियमित जांच के दौरान कांडी बरहा, उडी, बारामूला निवासी मोहम्मद हुसैन खान पुत्र माजिद खान पुत्र माजिद खान को 10.860 किलोग्राम हेरोइन के साथ पकड़ा था।

राज्य की ओर से केस लड़ रहे पब्लिक प्रासिक्यूटर कौशल कोतवाल और हिमांशु प्रकाश आरोपित पर दोष साबित करने में सफल रहे। सरकारी वकील और बचाव पक्ष के वकील एनए रोंगा और नवीन गौर की दलीलों और गवाहों के ब्यान सुनने के बाद प्रधान सत्र न्यायाधीश उधमपुर ने आरोपित को दोषी करार दे दिया।

न्यायाधीश ने कहा कि दोषी 30 साल का युवक है। घर में उसके बूढ़े माता-पिता और बीमार बड़ा भाई है। गिरफ्तारी के दिन से ही वह न्यायिक हिरासत में है। दूसरी ओर उसने आज तक यह नहीं बताया कि उसने हेरोइन किससे खरीदी, वह कहां ले जा रहा था। इन सब परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए उन्होंने 08/22 एनडीपीएस मामले में दोषी को 12 वर्ष के कठोर कारावास तथा दो लाख रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई जाती है। जुर्माने की राशि दोषी वारंट जारी करके वसूल की जाएगी। इस मामले में जुर्माने की दो लाख की राशि का भुगतान न करने पर मुजरिम को एक वर्ष कठोर कारावास की अतिरिक्त सजा काटनी होगी।

Edited By: Jagran