संवाद सहयोगी, किश्तवाड़ : जिले के पाडर इलाके में स्थित सोल गांव में तालाब में डूबने से दसवीं कक्षा के चार छात्रों की मौत हो गई।

डीसी किश्तवाड़ अंग्रेज ¨सह राणा के मुताबिक पांच स्कूली छात्र तालाब में नहाने गए थे। नहाते समय एक छात्र तालाब में बने दलदल में फंस गया। उसके चार अन्य साथी दलदल में फंसे अपने साथी की मदद को वहां पहुंचे। इनमें से तीन अन्य भी दलदल में फंस गए। पांचवें छात्र ने वहां से निकल कर गांव पहुंच कर इस घटना की जानकारी गांव के लोगों को दी, जिसके बाद फौरन गांव के लोग मौके पर पहुंचे। उन्होंने प्रशासन और पुलिस को सूचित किया। सूचना मिलने पर गुलाबगढ़ से एसडीआरएफ की टीम और पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे। एसडीआरएफ ने खोज अभियान चलाकर चारों छात्रों के शवों को बरामद कर बाहर निकाला। शवों का पोस्टमार्टम कराने के बाद वारिसों के सुपुर्द कर दिया गया। मृत छात्रों की पहचान आदित्य कुमार पुत्र अशोक कुमार, शिवम कुमार पुत्र बोधराज, विशाल कुमार पुत्र महेंद्र सिंह तीनों निवासी सोल और सचिन कुमार पुत्र राम सिंह निवासी गंधारी के रूप में हुई है।

इस घटना के बाद पूरे गांव में शोक की लहर है। किश्तवाड़ में रह रहे सोल गांव के लोगों ने बताया कि यह मछली पालन विभाग का तालाब है, जो कई वर्ष से खाली पड़ा है। गांव के बच्चे उसमें अक्सर नहाते थे। विभाग को कई बार इसमें किसी के डूबने की आशंका जता कर इसे सुरक्षित बनाने के लिए कई बार कहा गया, मगर विभाग ने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। इस कारण यह दुखद हादसा हुआ है।

Posted By: Jagran