संवाद सहयोगी, पौनी : पंचायत खैरालेड़ और गजोड़ के किसानों ने जंगली जानवरों द्वारा बर्बाद की जाने वाली फसलों और बारिश से बर्बाद फसलों का मुआवजा देने की मांग की है। पंचायत गजोड़ के पूर्व सरपंच मुहम्मद अनवर, खैरालेड़ के पूर्व सरपंच कैप्टन कमल ¨सह ने बताया हर साल जंगली जानवर व बारिश से उनकी फसल बर्बाद होती है लेकिन उन्हें कोई मुआवजा नहीं दिया जाता।

हर साल किसान फसल बीजते हैं। जब फसल बड़ी होती है तो उसे जंगली जानवर खा जाते हैं। जो थोड़ी बहुत फसल बचती है उसे बारिश तबाह कर देती है। किसानों को दोहरी मार झेलनी पड़ती है, जिससे किसानों के खेतों में फसल की पैदावार नहीं हो पाती है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत भी कृषि विभाग द्वारा किसानों को गुमराह किया गया है। किसानों ने पिछले दो साल में दो बार फसल बीमा कराया है, लेकिन बीमा करने वाली कंपनी फसल बर्बाद होने के बाद मुआवजा नहीं दे रही है।

उन्होंने कहा प्रशासन को किसानों की समस्या को लेकर ठोस कदम उठाना चाहिए और जिन किसानों की फसल बर्बाद होती है उन्हें समय पर फसल बीमा का लाभ पहुंचाना चाहिए। इसके अलावा वन्य जीव संरक्षण विभाग से क्षेत्र में जंगली जानवरों द्वारा बर्बाद की जानी वाली फसलों को रोकने के लिए भी ठोस कदम उठाने की मांग की है

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस