संवाद सहयोगी, किश्तवाड़ : चिनार वर्कर्स यूनियन के चेयरमैन को पुलिस ने डीसी किश्तवाड़ के साथ दु‌र्व्यवहार करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है। यूनियन के लोगों में इस बात को लेकर रोष है।

किश्तवाड़ में चिनार वर्कर्स यूनियन के चेयरमैन जो¨गदर भंडारी को मंगलवार को पुलिस ने गिरफ्तार करके सलाखों के पीछे डाल दिया है। उन पर आरोप है कि उन्होंने डीसी दफ्तर में जाकर डीसी किश्तवाड़ अंग्रेज ¨सह राणा से दु‌र्व्यवहार किया। डीसी की शिकायत पर एसएसपी अबरार अहमद चौधरी डीसी दफ्तर पहुंचे और एसएचओ को बुलाकर जो¨गदर भंडारी को गिरफ्तार किया। जानकारी मिली है कि जो¨गदर भंडारी किश्तवाड़ में बनने वाले पकल डुल परियोजना में अपनी यूनियन को मजबूत करने में लगे हुए थे और परियोजना बनाने वाली कंपनी पर अपना दबाव बना रहे थे कि स्थानीय लोगों को परियोजना के काम पर लगाया जाए। वह कई दिनों से वर्करों को लेकर बैठक भी कर रहे थे, लेकिन कंपनी के लोगों को यह बात हजम नहीं हो रही थी कि कोई यूनियन उनके खिलाफ खड़ी हो। इसी के चलते जोगिंदर भंडारी के खिलाफ शिकायतें आना शुरू हो गई थीं। जिसके एवज में मंगलवार दोपहर बाद भंडारी को डीसी दफ्तर में बुलाया गया और काफी समय तक भंडारी से बात होती रही। लेकिन अंदर की बात बाहर नहीं निकली। उसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

इस बारे में एसएसपी किश्तवाड़ अबरार अहमद चौधरी का कहना था कि भंडारी ने डीसी दफ्तर में जाकर डीसी से दु‌र्व्यवहार किया। जिसके बाद डीसी ने उसके खिलाफ पुलिस को सूचना दी और हमने डीसी की शिकायत पर मौके पर जाकर भंडारी को गिरफ्तार कर लिया। खबर लिखे जाने तक चिनार वर्कर्स यूनियन के लोग इस बात से काफी नाराज थे। उनका कहना था कि एक सोची समझी चाल है, जिसके जरिए भंडारी को गिरफ्तार किया गया। लेकिन हमारी यूनियन चुपचाप बैठने वाली नहीं है। इस बात का फैसला हम बुधवार को करेंगे कि आगे की क्या रणनीति होनी चाहिए।

Posted By: Jagran