मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। दक्षिण कश्मीर के इमाम साहब, शोपियां में सुरक्षाबलों ने शनिवार को दो आतंकियों को एक मुठभेड़ में मार गिराया। मारे गए आतंकवादियों में शामिल राहिल रशीद शेख तीन दिन पहले 3 अप्रैल को ही हिजबुल मुजाहिदीन आतंकवादी संगठन में शामिल हुआ था। जिला गांदरबल के नूनर गांव का रहने वाला राहिल एमटैक का छात्र था। वहीं दूसरे आतंकवादी की पहचान पहचान बिलाल अहमद के तौर पर हुई है। वह शोपियां के ही किगाम इलाके का रहने वाला था। 

आतंकियों की मौत के बाद भड़की हिंसा पर काबू पाने के लिए सुरक्षाबलों को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। फिलहाल प्रशासन ने एहतियात के तौर पर जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को अगले आदेश तक बंद कर दिया है। सैन्य सूत्राें ने बताया कि विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर सेना की 44 आरआर और राज्य पुलिस विशेष अभियान दल एसओजी के जवानों के एक संयुक्त दल ने पडगुची इमाम साहब में छिपे आतंकियों को पकडऩे के लिए घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चलाया।

जवानों को गांव में आते देख, आतंकियों ने वहां से भागने का प्रयास किया। उन्होंने जवानों पर गोलियों की बौछार करते हुए घेराबंदी तोडऩे का प्रयास किया। लेकिन जवानों ने तुरंत अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर किया। करीब दस मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चली और उसके बाद आतंकियों की तरफ से गोली चलना बंद हो गई। इसके बाद जवानों ने सावधानी पूर्वक आगे बढ़ते हुए मुठभेड़ स्थल की तलाशी ली तो उन्हें वहां गोलियों से छलनी दो आतंकियों के शव मिले। मारे गए दोनों आतंकी स्थानीय ही थे।

आतंकियों के मरने की सूचना फैलते ही क्षेत्र के लोग सड़कों पर उतर आए और उन्होंने सुरक्षाबलों पर पत्थर बरसाना शुरू कर दिए। लोगों को मुठभेड़ स्थल से खदेडऩे के लिए सुरक्षाबलों को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। फिलहाल स्थिति नियंत्रित है। एहतियात के तौर पर प्रशासन ने इमाम साहब क्षेत्र में इंटरनेट मोबाइल सेवा को बंद कर दिया है।

 

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप