राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : दक्षिण कश्मीर के त्राल में आतंकियों ने बुधवार की रात एक पुलिसकर्मी के घर में घुसकर उसके पुत्र को अगवा कर लिया। पुलिस ने अगवा युवक को आतंकियों की चंगुल से मुक्त कराने के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया है।

अगवा किए गए युवक की पहचान आसिफ रफीक राथर के रूप में हुई है। उसके पिता रफीक अहमद राथर राज्य पुलिस के सीआइडी ¨वग में हैं। वह इन दिनों श्रीनगर में तैनात हैं।

बताया जाता है कि स्वचालित हथियारों से लैस चार नकाबपोश आतंकी बुधवार रात ¨पगलिश गांव में आए। उन्होंने रफीक अहमद के घर का दरवाजा खटखटाया। घरवालों ने जैसे ही दरवाजा खोला, आतंकी भीतर दाखिल हो गए। उन्होंने घर में मौजूद सभी लोगों को एक जगह जमा किया और आसिफ को अपने साथ चलने के लिए कहा। घरवालों ने जब विरोध किया तो आतंकियों ने सभी को जान से मारने की धमकी दी। इस पर सभी चुप हो गए और आतंकी आसिफ को अपने साथ ले गए।

आसिफ शेरे कश्मीर कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (स्क्वास्ट) के बीएससी एग्रीकल्चर का छात्र है। आतंकियों द्वारा आसिफ को लेकर जाने के बाद उसके परिजनों ने निकटवर्ती पुलिस चौकी को सूचित किया। उसी समय सीआरपीएफ और पुलिस अधिकारी अपने दलबल के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने तत्काल आसिफ को आतंकियों की चंगुल से मुक्त कराने के लिए अभियान छेड़ दिया।

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह लश्कर ने एक वीडियो संदेश जारी कर पुलिस को चेतावनी दी थी कि अगर आतंकियों के घरों पर छापे मारे गए तो वह भी जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस कर्मियों और अधिकारियों के परिजनों को निशाना बनाएंगे।

Posted By: Jagran