राज्य ब्यूरो, श्रीनगर: अपने जिहादी एजेंडे की नाकामी और बंद के फरमान की नाफरमानी से हताश आतंकियों ने शनिवार को उत्तरी कश्मीर के बारामुला में एक दुकानदार की हत्या का प्रयास किया। नाकाम रहने पर वह भाग निकले। इसके बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेरबंदी कर तलाशी अभियान चलाया।

कश्मीर के अन्य हिस्सों की तरह बारामुला में भी स्थानीय दुकानदार आतंकियों के बंद के फरमान की नाफरमानी करते हुए सुबह और शाम को दुकानें खोल रहे हैं। सिर्फ दोपहर को ही दुकानें बंद रख रहे हैं। कई दुकानदार दोपहर को भी स्थानीय लोगों की सुविधा के मुताबिक अपनी दुकानों के शटर खुले रखते हैं। शनिवार को भी दोपहर को कुछ स्थानीय दुकानदारों ने अपनी दुकानें खोली थीं।

बताया जा रहा है कि बारामुला में सब्जी मंडी के पास सुनार इब्राहिम मंजूर ने अपनी दुकान का शटर आधा उठा रखा था। वह भीतर ग्राहकों को सामान दिखते हुए उनसे बात कर रहा था। इसी दौरान बाजार में आतंकी पहुंचे। वह जैसे ही दुकान की तरफ बढ़े तो इब्राहिम ने उन्हें देख लिया। इस पर इब्राहिम ने शटर को तुरंत गिरा दिया। साथ ही अपनी व ग्राहकों की जान बचाने का प्रयास किया। शटर गिराते देख आतंकियों ने उस पर गोली चला दी। गोली शटर में लगी। तब तक बाजार में भगदड़ मच गई थी। गोली की आवाज सुनकर पास के इलाके में गश्त कर रहे पुलिस व अर्धसैनिकबलों के जवान मौके पर पहुंच गए। इस बीच, आतंकी खुद को फंसता देख भाग निकले।

गौरतलब है कि आतंकियों ने गत सोमवार को शोपियां में राजस्थान के एक ट्रक चालक की हत्या कर दी थी। इसके बाद उन्होंने बुधवार को पुलवामा में छत्तीसगढ़ के एक श्रमिक को मौत के घाट उतारने के अलावा त्रेंज शोपियां में पंजाब के दो सेब व्यापारियों को गोली मार दी थी। इनमें से एक व्यापारी की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि दूसरा अस्पताल में भर्ती है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप