जेएनएन, श्रीनगर/जम्मू: राज्य में मंगलवार को मौसम ने एक बार फिर करवट ली। कश्मीर में उच्च पर्वतीय इलाकों में भारी बर्फबारी हुई है। श्रीनगर समेत निचले इलाकों में भी बर्फ की चादर बिछ गई है। वहीं, जम्मू संभाग में दोपहर तक बारिश का दौर चलता रहा। जम्मू संभाग के उच्च पर्वतीय इलाकों में भी बर्फ गिरी है। खराब मौसम के बावजूद श्रीनगर में हवाई यातायात बाधित नहीं हुआ। मौसम विभाग ने बुधवार को भी बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई है।

जवाहर सुरंग के दोनों ओर सुबह दस बजे तक बर्फबारी होती रही। यहां आठ इंच से अधिक बर्फ गिरी है। इसके चलते जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर फिसलन हो गई है। इतना ही नहीं, बारिश और बर्फबारी के चलते रामबन जिले के रामसू और पंथियाल इलाके में हाईवे पर पत्थर और मलबा गिरा है। इससे हाईवे बंद हो गया है। हाईवे बंद होने से दो हजार से अधिक वाहन फंस गए हैं। इनमें से अधिकतर श्रीनगर जाने वाले ट्रक हैं। ट्रैफिक विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अगर बुधवार को मौसम साफ रहा तो हाईवे को यातायात को फिर से खोल दिया गया है। लेह-श्रीनगर और पुंछ से कश्मीर को जोड़ने वाला मुगल रोड पहले से ही बंद पड़ा हुआ है। राजौरी और पुंछ दोनों जिलों में बारिश और बर्फबारी हुई है। इसके चलते कई गांवों का तहसील और जिला मुख्यालय से संपर्क कट गया है।

नींद खुली तो चारों ओर दिखी बर्फ की चादर

ताजा बर्फबारी से न्यूनतम तापमान में थोड़ा सुधार हुआ है, लेकिन अधिकतम तापमान एक बार फिर कम हो गया है। इससे ठंड फिर बढ़ गई है। श्रीनगर व इसके साथ सटे इलाकों में जब मंगलवार सुबह लोग नींद से जागे तो उन्होंने अपने घर की छतों, प्रांगण व गली कूचों को बर्फ की चादर में ढका पाया। देर शाम तक वादी के उच्च पर्वतीय इलाकों के साथ साथ निचले इलाकों में बर्फबारी रुक रुककर हो रही थी। गुलमर्ग में 3:30 बजे तक 6 इंच, सोनमर्ग में 9 इंच, जबकि साधना टाप में एक फीट बर्फ गिर चुकी थी। श्रीनगर व इसके साथ सटे इलाकों में दो इंच बर्फ रिकार्ड की गई। श्रीनगर में अधिकतम तापमान 3.2, जबकि न्यूनतम तापमान -1.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान -8.0, जबकि पहलगाम में न्यूनतम तापमान -3.9 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। पत्नीटॉप में भी गिरी बर्फ

जम्मू संभाग के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल पत्नीटॉप में भी बर्फबारी हुई है। इससे पर्यटकों के चेहरे खिल गए हैं। जम्मू का न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री सेल्सियस रहा, जो पिछली रात से अधिक है। बनिहाल इलाके में सुबह साढ़े आठ बजे तक साढ़े छह सेंटीमीटर तक बर्फ गिर चुकी थी। कश्मीर संभाग के पहलगाम में 29.9 एमएम और जम्मू संभाग के बटोत में 26.0 एमएम, कटड़ा में 13.6 एमएम, भद्रवाह में 22.4 एमएम बारिश दर्ज की गई।

चांदी जैसे चमक उठे त्रिकुटा के पहाड़

धार्मिक पर्यटन स्थल कटड़ा में बर्फबारी होने से माता वैष्णो देवी के भक्तों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। यात्रा की उनकी खुशी दोगुनी हो गई है। बर्फबारी से त्रिकुटा के पहाड़ा चांदी जैसे चमक उठे हैं। भैरव घाटी से लेकर अ‌र्द्धकुंवारी तक पूरे यात्रा मार्ग पर बर्फ गिरी है। यह इस सीजन में चौथी बार बर्फबारी हुई है। त्रिकुट पर्वत पर तीन फुट, भैरव घाटी में दो से ढाई फुट, वैष्णो देवी भवन में दो फुट, सांझी छत में डेढ़ फुट बर्फ पड़ चुकी है। श्रद्धालुओं के आने जाने के लिए फिलहाल सभी यात्रा मार्ग खुले हुए हैं। शाम पांच बजे तक करीब 9000 श्रद्धालु पंजीकरण करा चुके थे। श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने खराब मौसम के चलते बैटरी कार सेवा, हेलीकॉप्टर सेवा और भवन से भैरव घाटी के बीच चलने वाली पैसेंजर केबल कार को फिलहाल बंद कर दिया है। सांझीछत हैलीपेड पर भी बर्फ गिरी है। मौसम में सुधार होने तक हेलीकॉप्टर सेवा को स्थगित कर दिया गया है। जगह अधिकतम न्यूनतम

जम्मू 14.1 8.2

बनिहाल 2.2 0.2

बटोत 2.2 -2.1

भद्रवाह 3.7 -1.5

कटड़ा 10.0 6.2

श्रीनगर 3.8 -1.2

काजीगुंड 4.5 -2.0

पहलगाम -0.5 -3.9 कुपवाड़ा 4.4 -1.9

कुकरनाग 2.4 -3.1 गुलमर्ग -1.0 -8.0

लेह --- 16.8

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस