श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। गुलाम कश्मीर से बहकर भारतीय क्षेत्र में आए सात वर्षीय बालक का शव लेने से इन्कार करने वाले पाकिस्तान को आखिर परिवार की करुण पुकार के आगे झुकना पड़ा। भारतीय सेना और पुलिस के प्रयास के बाद बच्चे का शव पूरे सम्मान के साथ उत्तरी कश्मीर के गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना के हवाले कर दिया। ऐसा कर जहां भारतीय सेना ने मानवता की मिसाल कायम की। वहीं बच्चे को भी अपने गांव की मिट्टी नसीब हो सकी।

जिला बांडीपोर में नियंत्रण रेखा के साथ सटे गुरेज सेक्टर के अग्रिम सीमावर्ती गांव अछूरा सिंदयाल के स्थानीय लोगों ने किशनगंगा दरिया में एक बालक का शव देखा। इसके बाद उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव दरिया से निकालकर अपने कब्जे में ले लिया। छानबीन के दौरान पता चला कि यह शव गुलाम कश्मीर में गिलगित बाल्टीस्तान के मिनीमर्ग अस्तूर के रहने वाले नजीर अहमद शेख के सात वर्षीय बेटे आबिद अहमद शेख का है। वह स्कूल से लौटते हुए एक नाले में गिर गया था, जो किशनगंगा दरिया में आकर मिलता है। नाले के पानी के साथ आबिद का शव भी गुरेज पहुंच गया था।

पाकिस्तान ने पहले नहीं दिया सकारात्मक जवाब : 

एसएसपी बांडीपोर राहुल मलिक ने बताया कि बालक के शव का पोस्टमार्टम गत रोज कर लिया गया था। हमने उसी समय पाकिस्तानी सेना व संबंधित प्रशासन को उचित माध्यम से सूचित किया था कि वह बच्चे का शव ले जा सकते हैं, लेकिन पाकिस्तानी सेना ने सकारात्मक जवाब नहीं दिया और शव लेने से इन्कार कर दिया।

आबिद के परिजनों ने सोशल मीडिया का लिया सहारा :

आबिद का शव भारतीय इलाके में पहुंचने की खबर मिलने पर गिलगित बाल्टीस्तान में रहने वाले आबिद के परिजनों ने सोशल मीडिया का सहारा लिया। उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से उसका शव वापस लाने की अपील की।उन्होंने भारतीय प्रशासन से भी आग्रह किया कि वह आबिद का शव लौटाएं, ताकि उसे सुपुर्दे खाक किया जा सके।

फिर शव लेने को तैयार हुआ पाकिस्तान :

भारत की अपील और बच्चे के परिवार की मांग पर वीरवार सुबह पाकिस्तानी सेना ने निर्धारित माध्यम के जरिए संपर्क कर शव लौटाने के लिए कहा। एसएसपी बांडीपोर राहुल मलिक ने बताया कि संबंधित थाना प्रभारी और सेना के अधिकारियों व जवानों ने दोपहर करीब डेढ़ बजे सभी आवश्यक कानूनी औपचारिकताएं पूरी कर व पूरे सम्मान के साथ आबिद का पार्थिव शरीर चौरवान में दुदगेई चौकी के पास पाकिस्तानी सेना के हवाले कर दिया। 

Posted By: Preeti jha