राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : सुरक्षाबलों ने अपने आतंकरोधी अभियान को जारी रखते हुए कश्मीर के विभिन्न हिस्सों में बीते 24 घंटों के दौरान अलग-अलग छापों में सात संदिग्ध तत्वों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। इस बीच, त्राल में तीन आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर घेराबंदी एवं तलाशी अभियान (कासो) चलाया गया।

सूत्रों ने बताया कि सुरक्षाबलों ने दक्षिण कश्मीर के कुलगाम, पुलवामा और शोपियां के अलावा उत्तरी कश्मीर के हाजिन में छापे मारकर आतंकियों के साथ संबंधों और पत्थरबाजी की विभिन्न वारदातों में लिप्त सात लोगों को हिरासत में लिया है। नानीबुग कुलगाम से हिरासत में लिए गए युवकों की पहचान आकिब मुश्ताक वानी और शाहिद हमीद के रूप में हुई है। हाजिन के पर्रे और बोन मोहल्ले से भी तीन युवक पकड़े गए हैं। पुलवामा व शोपियां से पकड़े गए युवकों की पहचान इरशाद और फैयाज बताई जा रही है। ये दोनों आतंकियों के लिए बतौर ओवरग्राउंड वर्कर भी काम करते हैं। पुलिस ने इन गिरफ्तारियों के बारे में कुछ भी कहने से इन्कार किया है।

इस बीच, दोपहर को सेना की 42 आरआर और सीआरपीएफ की 180वीं वाहिनी के जवानों ने राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल (एसओजी) के जवानों के साथ मिलकर त्राल में ईदगाह और गोल मस्जिद के इलाके की घेराबंदी कर ली। बताया जाता है कि इस इलाके में दो से तीन आतंकी अपने किसी संपर्क सूत्र से मिलने आए थे। गोल मस्जिद के पास स्थित कब्रिस्तान में ही आतंकी बुरहान की कब्र है। करीब तीन घंटे तक सुरक्षाबलों ने इस पूरे इलाके को घेरे रखा और सभी संदिग्ध मकानों की तलाशी ली, लेकिन जब आतंकियों का कोई सुराग नहीं लगा तो उन्होंने कासो समाप्त कर दिया।

Posted By: Jagran