राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : गणतंत्र दिवस के दौरान आतंकियों द्वारा किसी बड़े हमले की साजिश को अंजाम दिए जाने की आशंका से निपटने के लिए पूरे जम्मू कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। दोनों राजधानी शहरों और श्रीनगर-जम्मू हाईवे समेत सभी महत्वपूर्ण सुरक्षा प्रतिष्ठानों की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा कर उसे सोमवार को और चाक चौबंद कर दिया। इसके अलावा नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे इलाकों में भी गश्त बढ़ा दी है। हालांकि अधिकारिक तौर पर पुलिस व अन्य सुरक्षा एजेंसियों ने गणतंत्र दिवस के मौके पर राज्य में आतंकियों की किसी साजिश की पुष्टि नहीं की है।

अलबत्ता, संबधित सुरक्षा सूत्रों के मुताबिक, इस समय आतंकी किसी बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में मौका तलाश रहे हैं। उन पर सरहद पार से लगातार दबाब बनाया जा रहा है। इसके अलावा हाल ही में पकड़े गए आतंकी नवीद बाबू और अवंतीपोरा में पकड़े गए आतंकी जहांगीर ने भी ऐसी साजिशों का पूछताछ में खुलासा किया है। आतंकी खतरे से निपटने के लिए जम्मू और श्रीनगर में सभी महत्वपूर्ण सरकारी प्रतिष्ठानों की सुरक्षा कड़ी कर दी है। श्रीनगर आने-जाने के सभी रास्तों पर विशेष नाके लगाए जा रहे हैं। हाईवे को भी अलग-अलग जोन में बांट कर समुचित प्रबंध किए गए हैं। इसके अलावा सभी सैन्य व सुरक्षा प्रतिष्ठानों की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। सूत्रों ने बताया कि जम्मू श्हर के भीतर और जम्मू के साथ सटे सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा एजेंसियां पूरा एहतियात बरत रही हैं। जम्मू शहर में विभिन्न हिस्सों में पुलिस ने नाके लगाकर गुजरने वाले वाहनों और लोगों की जांच की जा रही है। आतंकरोधी अभियान भी किए तेज

जम्मू और कश्मीर संभाग के आतंकवाद प्रभावित इलाकों में गणतंत्र दिवस के मद्देनजर सुरक्षा एजेंसियों ने अपने आतंकरोधी अभियान भी तेज कर दिए हैं। संबंधित अधिकारियों ंने बताया कि सभी प्रमुख शहरों, कस्बों और हाइवे पर चिन्हित स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे भी क्रियाशील कर दिए है। पुलिस, सीआरपीएफ, सेना और नागरिक प्रशासन के अधिकारी लगातार कानून व्यवस्था और सुरक्षा का माहौल बनाए रखने के लिए बैठक कर, हालात की समीक्षा कर समुचित कदम उठा रहे हैं।

घुसपैठ के रूट पर रखी जाए पैनी नजर : आइजीपी जम्मू

पुलिस महानिरीक्षक (आइजीपी) जम्मू जोन मुकेश सिंह ने कहा कि सभी सुरक्षा एजेंसियां आतंकियों की घुसपैठ के रास्तों की पहचान कर वहां सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त करें। वह गणतंत्र दिवस से पूर्व सुरक्षा बंदोबस्त का जायजा लेने के लिए पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित बैठक में बोल रहे थे। आइजीपी ने कहा कि सुरक्षा एजेंसियां बार्डर मैनेजर फ्रंट तैयार करें। पुलिस, सेना, सीआरपीएफ जैसी सुरक्षा एजेंसियां मिलकर नाके लगाए। विशेषकर रात के समय सीमांत क्षेत्रों से शहर की ओर आने वाले सभी रास्तों और हाईवे पर कड़ी निगरानी रखी जाए। बार्डर पुलिस थानों व चौकियों में वीडीसी की मदद ली जाए और वरिष्ठ अधिकारी स्वयं उन पर नजर रखे। उन्होंने स्टेडियम के आसपास पैदल गश्त और निगरानी बढ़ाने को भी कहा। होटल व धर्मशालाओं की समय समय पर जांच की जाए। एसएसपी जम्मू को कहा कि वह अपने खुफिया तंत्र को मजबूत करें, ताकि देश विरोधी ताकतें अपने नापाक इरादों को पूरा न कर सके।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस