राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : जम्मू कश्मीर पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि इस समय पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ और पाकिस्तान में बैठे आतंकी सरगना जम्मू कश्मीर में हथियार व नशीले पदार्थाें की तस्करी के लिए ड्रोन इस्तेमाल कर रहे हैं। हमने उनकी ऐसी कई कोशिशों को नाकाम बनाया है। पाकिस्तान के इस नए हथकंडे को लेकर सुरक्षाबल पूरी तरह से सजग हैं।

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह वीरवार को श्रीनगर में हुमहामा स्थित सीआरपीएफ केंद्र में शहीद एएसआइ एनसी बडोले को एक समारोह में श्रद्धांजली अर्पित करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

डीजीपी ने कहा कि पाकिस्तान पहले पंजाब के सीमावर्ती इलाकों में ड्रोन का इस्तेमाल कर रहा था, लेकिन अब जम्मू कश्मीर के सीमावर्ती इलाकों और एलओसी से सटे इलाकों में भी ड्रोन का इस्तेमाल कर रहा है। हमने पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए भेजे गए हथियारों व नशीले पदार्थाें की कई खेप पकड़ी हैं।

बड़गाम में 24 घंटों के भीतर दो आतंकी वारदातों का जिक्र किए जाने पर डीजीपी ने कहा कि हमने वीरवार सुबह ही त्राल में एक सफल अभियान को अंजाम दिया है। इसमें अल-बदर का एक आतंकी मारा गया है। बीते कुछ दिनों क दौरान कई नामी आतंकी मारे गए हैं। बड़गाम की दोनों घटनाओं में शामिल आतंकियों की पहचान कर उन्हें पकड़ने के लिए अभियान चलाए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के मंसूबों को नाकाम बनाने के लिए सभी सुरक्षा एजेंसियां आपस में पूरे समन्वय से काम कर रही हैं। आतंकवाद के रास्ते पर जो चलेगा, वह मारा जाएगा।

वहीं महानिदेशक सीआरपीएफ एपी महेश्वरी ने बड़गाम में आज सुबह हुए आतंकी हमले में एक एएसआइ की शहादत पर कहा कि इससे आतंकवाद को कुचलने का हमारा संकल्प और मजबूत होगा। हमारे जवानों का मनोबल इन हमलों से नहीं गिरेगा। उन्होंन कहा कि हमें अपने एक अधिकारी को गंवाने पर दु,ख है,लेकिन हम अपने शहीदों का पूरा सम्मान करते हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस