श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने शुक्रवार को आतंकियों को कांटों की संज्ञा देते हुए कहा कि हमारे अमन के चमन में जो कांटे बाेए थे, उनमें से अधिकांश कांटों को हमने नष्ट कर दिया है। जो बचे हैं, उन्हें भी आम अवाम की मदद से खत्म करने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा। डीजीपी शुक्रवार को डल झील किनाने पैडल फार पीस साइकिल रैली को झंडी दिखाने के बाद ये बातें पत्रकारों से बातचीत में ही। उन्होंने कहा कि अगर आज यहा हालात बेहतर हुए हैं तो उसका पूरा श्रेय आम कश्मीरी अवाम को जाता है। कोई भी मिशन तब तक कामयाब नहीं होता, जब तक लोग साथ न दें।

पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि सरहद पार बैठे अपने आकाओं के इशारे पर हुर्रियत कांफ्रेंस और अन्य अमन दुश्मन ताकतों ने यहां एक खूनी खेल शुरू कर रखा था। मैं कहूंगा कि इन लोगों ने जो हमारे दिलों में हमारे इस चमन में जो कांटे बाेए थे, उन्होंने न सिर्फ हमें जख्म दिए, बल्कि बहुत सारी कीमती जानें भी गई। इनमें से बहुत से कांटों का हमने सफाया कर दिया है। जो बचे हैं, उन्हें भी समाप्त करने के लिए जनता की मदद से बहुत कारगर कदम उठाए जाएंगे। इन्हें खत्म करने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा।

पुलिस महानिदेशक ने अपने जेनपोरा शोपियां दौरे का जिक्र करते हुए बताया कि वहां कभी आतंकी आए दिन वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर प्रचारित-प्रसारित करते थे, लोगों को गुमराह करते थे, लेकिन अब जेनपोरा में लोग शांति और खुशहाली की बात करते हैं। स्थानीय युवा आतंकी नहीं बनना चाहते, बल्कि उनसे छुटकारा चाहते हैं। आज वहां लोग खेल अकादमी, डिस्पेंसरी की मांग करते हैं।

युवाओं को पुलिस से जोड़ने के लिए है पैडल फार पीस रैली : डीजीपी ने कहा कि जम्मू कश्मीर पुलिस हर साल पैडल फार पीस रैली का आयोजन करती है। यह कश्मीर के युवाओं और अन्य लोगों को सीधा पुलिस के साथ जोड़ती है। यह पुलिस और आम लोगों के बीच सवांद व समन्वय बढ़ाने के साथ-साथ स्थानीय युवाओं की ऊर्जा को भी रचनात्मक गतिविधियों में प्रेरित करती है। इस तरह के आयोजन आने वाले दिनों में भी किए जाएंगे।

Edited By: Lokesh Chandra Mishra