पुंछ, जेएनएन। पाकिस्तान सीमा पर तनाव बढ़ाने से बाज नहीं आ रहा। लगातार पांचवें दिन शनिवार को पाकिस्तान ने राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों को निशाना बनाते हुए भारी गोलाबारी की। सीमा पर बढ़ते संघर्ष विराम के उल्लंघन के मामले को देखते हुए जिला प्रशासन ने एहतियातन जिला राजौरी के नौशहरा सेक्टर, मेंढर के बालाकोट जबकि शाहपुर और केरनी सेक्टर में सीमा से सटे आधा दर्जन से अधिक सरकारी स्कूलों को बंद करने के निर्देश दे दिए हैं। हालांकि इस गोलाबारी में जिला पुंछ व राजौरी में नियंत्रण रेखा से सटे गांवों में 16 घरेलु पशुओं के मारे जाने की भी सूचना है। भारतीय जवान भी पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। सेना की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना को भी भारी नुकसान पहुंचा है। 

सैन्य प्रवक्ता के अनुसार सबसे पहले पाकिस्तान ने शुक्रवार देर शाम 8 बजे नौशहरा सेक्टर में गोलीबारी का सिलसिला शुरू किया। पहले तो पाक सैनिकों ने छोटे हथियारों से भारतीय चौकियों को निशाना बनाया और बाद में उन्होंने रिहायशी इलाकों पर मोटार्र शैल दागना शुरू कर दिए। भारतीय जवानों ने जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान पोस्ट पर गोले दागे। यह सिलसिला रात 10 बजे तक जारी रहा। रात के अंधेरे में की गई गोलाबारी के कारण गांव वासियों में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया। इसके बाद रात 11.45 बजे मेंढर सेक्टर के बालाकोट इलाके में पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी शुरू कर दी गई।

यहां दोनों ओर से गोलाबारी का सिलसिला सुबह 2.00 बजे तक जारी रहा। सैन्य सूत्रों का कहना है कि रात के समय पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा किया गया सीजफायर का उल्लंघन आतंकियों की घुसपैठ करवाने के लिए किया गया परंतु सतर्क भारतीय जवानों ने उनके इस प्रयास को विफल कर दिया।

 

प्रवक्ता ने बताया कि आज शनिवार सुबह लगभग 9.45 बजे पाकिस्तान ने एक बार फिर से संघर्ष विराम का उल्लंघन किया और पुंछ जिले में शाहपुर और केरनी सेक्टरों को निशाना बनाया। दोनों और से घंटों गोलाबारी हुई और फिर 11.30 बजे के करीब इसमें कमी आई। अब फिलहाल दोनों ओर से बंदूकें शांत हैं।

डीसी पुंछ राहुल यादव ने बताया कि बालाकोट इलाके में रात भर पाकिस्तान की ओर से की गई गोलाबारी में 16 घरेलू जानवर मारे गए हैं। यही नहीं सीमा से सटे चार सरकारी स्कूलों को भी एहतियात के तौर पर अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। शुक्रवार को इन स्कूलों के आसपास के इलाकों में मोर्टार गिरे थे। इसके अलावा प्रशासन ने शाहपुर सेक्टर में भी सरकारी स्कूलों को बंद करने के निर्देश दिए हैं।

पाकिस्तानी गोलाबारी के कारण कई आवासीय मकानों को भी मामूली नुकसान पहुंचा है। हालांकि किसी भी नागरिक के हताहत होने की कोई रिपोर्ट नहीं है। रिहायशी इलाकों में हो रही गोलाबारी को देखते हुए जिला प्रशासन व सैन्य अधिकारियों ने ग्रामीणों को सुरक्षा के लिए आवश्यक एहतियाती कदम उठाने की सलाह दी है। 

मालूम  हो कि इस साल अभी तक पाकिस्तान ने 2050 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है, जिसमें 21 भारतीय मारे गये हैं और कई अन्य घायल हुए हैं। भारत ने लगातार पाकिस्तान से कहा है कि वह अपने बलों से 2003 संघर्ष विराम समझौते का पालन करने और नियंत्रण रेखा तथा अंतरराष्ट्रीय सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए कहे।

इधर, कठुआ जिले की हीरानगर तहसील के मन्यारी पानसर गांव के बीच वीरवार मध्य रात्रि पाक रेंजरों ने मोर्टार चलाए तथा छोटे हथियारों से गोलीबारी की। कल शुक्रवार रात दस बजे पाकिस्तान ने फिर इसी क्षेत्र में गोलाबारी शुरू कर दी। भारत ने भी पाकिस्तान को करारा जवाब दिया। इस बीच, डीसी कठुआ के आदेश पर सीमा से सटे गावों के पांच स्कूल शुक्रवार को बंद रहे।

वहीं प्रशासनिक अधिकारियों के आग्रह पर अमल करते हुए सीमावर्ती लोग आपने खेतों में काम करने नहीं गए। मन्यारी निवासी बलवंत राज, देवेंद्र कुमार, परस राम और कुलदीप राज आदि ने कहा कि पाकिस्तान पर विश्वास नहीं किया जा सकता। वह कोई भी नापाक हरकत कर सकता है, इसलिए उसे और कड़ा जवाब दिया जाए। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस