राजौरी, गगन कोहली। हर बार सर्दियों में भारी बर्फबारी से नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर घुसपैठ के तमाम रास्ते बंद हो जाते हैं और पाकिस्तानी गोलाबारी भी लगभग थम जाती है, लेकिन इस बार पाकिस्तानी सेना लगातार फायरिंग जारी रखे हुए है। मतलब साफ है..।

पाकिस्तानी सेना, उसकी खुफिया एजेंसी आइएसआइ और आतंकी संगठनों ने मिलकर सफेद बर्फ पर काली साजिश रची है। पिछले कुछ दिनों से सीमा पर बरसाए जा रहे गोले, बैट हमले और सीमा पार हलचल को देखते हुए आशंका जताई जा रही है कि इस बार बर्फबारी के बावजूद सर्दियों में आतंकियों की घुसपैठ या हमले की कोशिशें हो सकती हैं। कुछ रोज पहले सेना अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत व राज्य पुलिस के प्रमुख दिलबाग सिंह भी यह संकेत दे चुके हैं कि सीमा पर हालात बिगड़ सकते हैं और घुसपैठ के प्रयास बढ़ सकते हैं। ऐसे में सीमा पर भारतीय सेना के जवान दुश्मन का कड़ा जवाब देने के लिए पूरी तरह सर्तक व मुस्तैद हैं।

आतंकियों को दो से पांच फीट बर्फ में चलने का प्रशिक्षण :

हाल ही के दिनों में एलओसी व इसके आसपास के क्षेत्रों में भारी बर्फबारी हुई है। इससे कुछ क्षेत्रों में सीमा पर लगी कंटीली तार को भी नुकसान पहुंचा है और घुसपैठ के अधिकतर मार्ग बंद हो चुके हैं। सूत्रों की मानें तो पाकिस्तान ने ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित किया है, जहां दो से पांच फीट बर्फ गिरती है। ऐसे इलाकों में चलना मुश्किल होता है, लेकिन नामुमकिन नहीं। सीमा पार आतंकी शिविरों में आतंकवादियों को दो से पांच फीट तक बर्फ को पार करने का प्रशिक्षण दिया गया है, ताकि आतंकी बर्फ के बीच भी घुसपैठ कर सकें।

ध्यान भटकाने के लिए की जा रही गोलाबारी :

भारतीय सेना का ध्यान भटकाने के लिए ही पाकिस्तानी अंतरराष्ट्रीय सीमा से लेकर एलओसी पुंछ व उड़ी तक सैन्य चौकियों व रिहायशी क्षेत्रों में भारी गोलाबारी कर रहा है। पिछले एक माह में खराब मौसम की आड़ में कई बार घुसपैठ के प्रयास किए जा चुके हैं, लेकिन हर बार पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी।

बार्डर एक्शन टीम के सदस्य भी सीमा के करीब तैनात :

पाक सेना ने बार्डर एक्शन टीम (बैट) के सदस्यों को सीमा के करीब तैनात किया हुआ है। बार्डर एक्शन टीम को सख्त निर्देश जारी किए गए हैं कि वह मौका मिलते ही भारतीय क्षेत्र में दाखिल होकर बड़ी कार्रवाई को अंजाम देकर वापस अपनी सीमा में सुरक्षित लौट आएं। बार्डर एक्शन टीम में आतंकियों के साथ पाक सेना के जवान व कमांडो भी शामिल हैं। चंद रोज पहले अखनूर के केरी बट्टल सेक्टर में भी बैट ने हमला किया था, जिसमें भारतीय सेना का जवान शहीद हो गया था। भारत ने भी बैट में शामिल पाकिस्तान के तीन कमांडो को ढेर कर दिया था।

कहां-कहां मौजूद हैं आतंकी :

मौजूदा समय में सीमा पार पाकिस्तान के निकयाल, समानी, अग्रिम बालाकोट, डाकू पोस्ट, कद्दू पोस्ट, देवा, तत्तापानी आदि क्षेत्रों में काफी संख्या में आतंकी जमा हैं और घुसपैठ का मौका तलाश रहे हैं। इन आतंकियों की संख्या 200 से अधिक बताई जा रही है। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस