श्रीनगर, [राज्य ब्यूरो]। राज्य के पुलिस महानिदेशक डॉ. एसपी वैद ने वीरवार कश्मीर को पूरी तरह शांत बनाने के लिए आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑल आउट को जरूरी बताया। उन्होंने कहा कि अल-कायदा आतंकी संगठन नहीं बल्कि एक विचारधारा है। यह कश्मीर की परंपरागत सूफी इस्लामिक विचारधारा के बिल्कुल विपरीत है।

श्रीनगर में पुलिस दरबार और उसके बाद उत्तरी कश्मीर के बारामुला में आयोजित समारोह में भाग लेने के बाद उन्होंने कहा कि हमारा मकसद कश्मीर के लोगों को सुरक्षित, शांत और विश्वासपूर्ण माहौल प्रदान करना है। लोगों को अपराधमुक्त समाज देना है। इसके लिए हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं। आतंकियों के खिलाफ जारी ऑपरेशन ऑल आउट भी इसी मकसद का हिस्सा है।

यह आतंकियों के सफाए तक जारी रहेगा।आतंकरोधी अभियानों में नागरिक क्षति का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों व जवानों को यथासंभव इससे बचने को कहा गया है। कुछ महीनों में आतंकियों के खिलाफ अभियान में आम लोगों के मारे जाने की घटनाएं कम हुई हैं। यह इस सिलसिले में अपनाई गई रणनीति का ही नतीजा है।जाकिर मूसा और कश्मीर में अंसार गजवाह उल हिंद के असर पर उन्होंने कहा कि अल-कायदा आतंकी संगठन से कहीं ज्यादा एक विचारधारा है।

यह अतिवादी मजहबी हिंसा की तरफ ले जाती है। पूर्व हिज्ब कमांडर जाकिर मूसा अल-कायदा की विचारधारा से प्रभावित हो गया है।कश्मीर में अलगाववादी संगठनों और कुछ व्यापारिक घरानों के खिलाफ एनआइए व ईडी के छापों के बारे में डीजीपी ने कहा कि कई लोगों ने हवाला के जरिये आए पैसे को रियल इस्टेट और अन्य काम-धंधों में लगाया है। जो व्यापारी और लोग हवाला में शामिल होंगे, उनके खिलाफ एनआइए कार्रवाई करेगी। वादी में सोशल मीडिया का आतंकवाद व अलगाववाद को बढ़ावा देने के लिए हो रहे दुरुपयोग के बारे में डीजीपी ने कहा कि कश्मीर में खून-खराबे के लिए सोशल मीडिया का दुरुपयोग हो रहा है।

सोशल मीडिया के जरिये कई तत्व लड़कों को हिंसा का पाठ पढ़ाकर आतंकवाद के रास्ते पर धकेलने में लगे हुए हैं। कई लोगों ने भी वाट्सएप न्यूज ग्रुप बना लिए हैं और इनके माध्यम से झूठी खबरें फैलाकर माहौल बिगाड़ने में लगे हैं। ऐसे तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस के सीआइडी विंग ने ऐसे कई लोगों की निशानदेही कर ली है।डीजीपी ने कहा कि सोशल मीडिया पर जारी दुष्प्रचार से युवकों को बचाने और साइबर दुनिया में राष्ट्रविरोधी गतिविधियों का मुकाबला करने के लिए विशेष दल गठित किए जाएंगे।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप