मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने शुक्रवार को एक बार फिर टेरर फंडिग मामले में मीरवाइज मौलवी उमर फारूक से पूछताछ के लिए तीसरी बार नोटिस भेजा है। हालांकि मीरवाइज ने इस बार भी हाजिर होने या न होने को लेकर देर शाम तक अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं की है।

सूत्रों ने बताया कि एनआइए ने मीरवाइज को तीसरा नोटिस भेजा है। यह नोटिस हुर्रियत नेता ने प्राप्त भी किया है। उन्हें इसी माह 18 अप्रैल को नई दिल्ली में अपने मुख्यालय में एनआइए ने पूछताछ के लिए बुलाया है। मीरवाइज के सचिव सईद उर रहमान ने एनआइए के नोटिस पर कहा कि मीरवाइज पहले ही अपना पक्ष स्पष्ट कर चुके हैं। उन्होंने पहले ही कहा है कि वह जांच में सहयोग के लिए तैयार हैं क्योंकि उनके पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है। सुरक्षा कारणों से वह दिल्ली नहीं जा सकते। एनआइए चाहे तो उनसे श्रीनगर में पूछताछ कर सकती है, वह यहां हमेशा उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि इस बार एनआइए ने 18 अप्रैल का दिन चुना है। उसी दिन यहां श्रीनगर संसदीय सीट के लिए मतदान होना है। हुर्रियत चुनावों के खिलाफ है। इसलिए एनआइए ने सुनियोजित साजिश के तहत ही उन्हें पूछताछ के लिए 18 अप्रैल को बुलाया है ताकि वह कश्मीर में लोगों को चुनाव के नाम पर होने वाले ड्रामे से सावधान न कर सकें।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप