जेएनएन, श्रीनगर/जम्मू : कश्मीर में बुधवार को एक बार फिर बर्फबारी हुई। इससे ठंड ने और जोर पकड़ लिया है। शीतलहर भी जनजीवन को परेशान कर रही है। खराब मौसम के चलते श्रीनगर एयरपोर्ट से कोई उड़ान नहीं हो सकी। दृश्यता भी कम रही, जिससे सभी उड़ानें रद रहीं। मंगलवार को भी खराब मौसम रहा था, लेकिन दोपहर बाद उड़ानें बहाल हो गई थीं। जवाहर सुरंग के दोनों किनारों पर बर्फ जमी है। बनिहाल-बारामुला रेल सेवा भी स्थगित रही। लगातार जारी बर्फबारी के चलते पूरे कश्मीर के कई गांवों का संपर्क जिला और तहसील मुख्यालयों से कटा हुआ है। रिहायशी ढांचों, पेड़ों और बिजली ढांचे को भी नुकसान हुआ है। श्रीनगर शहर ही नहीं, गांवों में भी पानी और बिजली की आपूर्ति बाधित हुई है।

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बुधवार को तीसरे दिन भी बंद रहा। राजमार्ग पर पांच हजार से अधिक वाहन फंसे हुए हैं। ट्रैफिक कंट्रोल रूम के अधिकारी मुताबिक गत दिनों बारिश के चलते रामबन जिले के डिगडोल और पंथियाल में भारी भूस्खलन हुआ है। इसके चलते पहाड़ों से लगातार पत्थर और मलबा हाईवे पर आ रहा है। इससे हाईवे बंद हो गया है। जम्मू से श्रीनगर जाने वाले यात्री ऊधमपुर जिले के जखैनी चौक में फंसे हुए हैं। जिले में मोम पस्सी, बैटरी चश्मा और पीड़ा के पास भी भूस्खलन हुआ है। हाईवे को साफ करने में जिला प्रशासन रामबन और सड़क के दोहरीकरण का काम कर रही कंपनी के कर्मचारी भी जुटे हैं। जैसे ही हाईवे खुलेगा तो सबसे पहले यात्री वाहनों फ्रेश माल ले जाने वाले वाहनों को छोड़ा जाएगा। वहीं, बुधवार को कश्मीर जाने वाले किसी भी वाहन को जम्मू जिले के नगरोटा से आगे नहीं बढ़ने दिया गया। राजमार्ग बंद रहने से जम्मू के मुख्य बस स्टैंड में सैकड़ों यात्री फंसे हुए। जवाहर टनल के पास भी जमी है बर्फ

बदले मौसम के बीच जवाहर टनल के पास भी भारी मात्रा में बर्फ गिरी है। इसके चलते यहां भी दोनों ओर वाहन फंसे हैं। संबंधित अधिकारियों के अनुसार मौसम में सुधार आते ही श्रीनगर-जम्मू हाईवे पर जवाहर सुरंग के दोनों किनारों पर जमा बर्फ को हटाने का काम शुरू किया जाएगा। वहीं, देर रात तक श्रीनगर समेत कश्मीर के अधिकांश इलाकों में बर्फबारी हो रही थी। गुलमर्ग में दोपहर 2:30 बजे तक 7 इंच, साधना टाप के निकट एक फीट, जबिक सोनमर्ग में 9 इंच बर्फ गिरी है। श्रीनगर व इसके साथ सटे इलाके भी दो इंच बर्फबारी हुई है। बुधवार को जम्मू का अधिकतम तापमान 16 और न्यूनतम तापमान 6.3 डिग्री सेल्सिय रहा। मौसम विभाग के अनुसार वीरवार को भी बर्फबारी जारी रहने के आसार हैं। कहां कितना नुकसान हुआ

बर्फबारी के चलते उड़ी सेक्टर में सात घर पूरी तरह ढह गए हैं। इसके अलावा दो सरकारी स्कूलों, 23 घरों, दस गौशालाएं, छह शेड और अखरोट के ढाई सौ से अधिक पेड़ों को नुकसान पहुंचा है। हिमस्खलन से फलीपोरा दो और दुद्रान में पांच घरों को नुकसान हुआ है। नांबला गांव में 14 घरों, दो गौशालाओं और यहां भी ढाई सौ से अधिक पेड़ टूट गए हैं। इसे सेक्टर में सड़क संपर्क और बिजली की आपूर्ति कटी हुई है। राहत के आसार नहीं, बारिश होगी

जागरण संवाददाता, जम्मू : संभाग में अगले दो दिनों तक हल्की बारिश के साथ उच्च पर्वतीय श्रृंखलाओं पर बर्फबारी के आसार हैं। बादलों के छाए रहने के चलते ठिठुरन बढ़ेगी। 19 जनवरी के बाद फिर मौसम अपने तेवर दिखाएगा। मौसम विभाग के अनुसार वीरवार से शनिवार तक जम्मू संभाग में आंशिक से घने बादल छाए रहेंगे। कई इलाकों में हल्की बारिश होगी। पहाड़ी व ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी के चलते मैदानी इलाकों में शीतलहर का प्रकोप बढ़ेगा। इस सबके बीच जम्मू में बुधवार का आगाज घने कोहरे के साथ हुआ। तड़के से ही शहर व आसपास के मैदानी इलाकों में कोहरा छाया हुआ था। करीब दस बजे कोहरा छंटना शुरू हुआ। दोपहर को धूप खिली लेकिन शाम के समय फिर आंशिक बादल छा गए।

कहां कितना रहा तापमान

स्थान अधिकतम न्यूनतम

जम्मू 16.0 6.5

बनिहाल 6.2 0.2

बटोत 6.8 -0.5

कटड़ा 12.7 7.2

भद्रवाह 5.0 -0.6

श्रीनगर 2.5 -1.2

काजीगुंड 2.2 -0.2

पहलगाम 0.5 -2.7

कुपवाड़ा 4.0 -4.1

कोकरनाग 3.0 -2.5

गुलमर्ग -1.0 -9.0

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस