राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्षा महबूबा मुफ्ती और नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने बुधवार को भाजपा नेता की पुलवामा में हत्या की कड़े शब्दों में ¨नदा की। उन्होंने कहा कि राजनीतिक विचारधारा के आधार पर किसी की भी हत्या को जायज नहीं ठहराया जा सकता।

गौरतलब है कि बुधवार तड़के पुलिस ने जिला पुलवामा में भाजपा नेता शब्बीर अहमद का गोलियों से छलनी शव बरामद किया है। उन्हें मंगलवार शाम आतंकियों ने अगवा कर लिया था।

महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला दोनों ने भाजपा नेता की हत्या की ¨नदा करते हुए ट्वीटर पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की। महबूबा ने ट्वीट किया है कि ईद के मुबारक मौके पर इस घिनौने कृत्य की ¨नदा करने के लिए शब्द नहीं है। कोई भी राजनीतिक नेता या कार्यकर्ता हो, चाहे वह किसी भी दल या राजनीतिक विचारधारा का समर्थक हो, उसकी हत्या को सही नहीं ठहराया जा सकता।

इसके बाद एक अन्य ट्वीट में महबूबा मुफ्ती ने लिखा है कि राज्य में इस खून खराबे के दुष्चक्र को समाप्त करने के लिए बातचीत और सुलह की राजनीतिक प्रक्रिया की शुरुआत जरूरी है।

पूर्व मुख्यमंत्री और नेकां उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने कहा कि भाजपा नेता शब्बीर अहमद की हत्या से मुझे गहरा सदमा लगा है। राजनीतिक मतभेदों पर ¨हसा का इस्तेमाल अत्यंत ¨नदनीय है। दिवंगत के परिजनों के लिए मेरी गहरी संवेदना है।

उमर अब्दुल्ला ने इसी दौरान पुलवामा में हुए पुलिसकर्मियों की हत्याओं पर भी गहरा दुख जताया और ट्ीटर पर लिखा है कि राज्य पुलिस रियासत में हालात सामान्य बनाने और शांति बहाल करने के मोर्चे पर सबसे आगे है। इस तरह की वारदातें सिर्फ पुलिस बल का मनोबल गिराने की एक साजिश है। इसके आगे उन्होंने लिखा है कि किसी की भी मौत अत्यंत दुखद होती है। अगर ईद के दिन, दुआ और त्योहार के दिन किसी की मौत या हत्या हो तो यह दुख कई गुना बढ़ जाती है। इसके बाद उन्होंने एक अन्य ट्वीट में भाजपा नेता और पुलिसकर्मियों की हत्या पर वादी के एक वर्ग विशेष की खामोशी की तरफ निशाना साधते हुए लिखा है कि पुलिसकर्मियों की हत्या पर कोई हंगामा नहीं हो रहा है।

Posted By: Jagran