श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। नार्वे के पूर्व प्रधानमंत्री क्जेल मैग्ने बांडेविक और कश्मीरी अलगाववादियों के बीच शुक्रवार को कट्टरपंथी सईद अली शाह गिलानी के घर एक बैठक हुई। इसमें कश्मीर के मौजूदा राजनीतिक और सुरक्षा परिदृश्य व भारत और पाकिस्तान के कश्मीर के प्रति रवैये से संबधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई है।

बताया जाता है कि कट्टरपंथी सईद अली शाह गिलानी के घर नार्वे के पूर्व प्रधानमंत्री शुक्रवार सुबह 11 बजे के करीब पहुंचे। उनके आगमन से पहले ही उदारवादी हुर्रियत प्रमुख मीरवाईज मौलवी उमर फारुक और जेकेएलएफ चेयरमैन मोहम्मद यासीन मलिक भी पहुंच गए थे।

तीनों अलगाववादियों ने नार्वे के पूर्व प्रधानमंत्री के साथ कश्मीर के हालात पर चर्चा करते हुए उनसे कश्मीर में कथित तौर पर जारी भारतीय सुरक्षाबलों की ज्यादतियां बंद कराने, भारत पर कश्मीरियों को हक ए खुद इरादियत प्रदान करने औ कश्मीर समस्या के समाधान के लिए भारत-पाकिस्तान व अन्य संबंधित पक्षों के बीच बातचीत की प्रक्रिया शुरू कराने में अपने प्रभाव का इस्तेमाल करने का आग्रह किया। 

Posted By: Sachin Mishra