राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : राज्यसभा में विपक्ष के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद के अलावा हंदवाड़ा के विधायक सज्जाद गनी लोन और खानसाहब के विधायक हकीम मोहम्मद यासीन ने मंगलवार को राज्यपाल सत्यपाल मलिक से भेंट कर राज्य में कानून व्यवस्था का माहौल बनाए रखने के लिए विचार विमर्श किया। उन्होंने पंचायत व निकाय चुनावों को सुरक्षित संपन्न कराने के उपायों पर भी चर्चा की।

राजभवन से मिली जानकारी के अनुसार, गुलाम नबी आजाद ने राज्यपाल नियुक्त होने पर सत्यपाल मलिक को बधाई दी। उन्होंने राज्यपाल के साथ रियासत के समग्र सुरक्षा परिदृश्य और अमन व शांति का माहौल बनाए रखने के लिए किए जाने वाले उपायों पर भी विचार विमर्श किया। उन्होंने राज्य में निकायों और पंचायत चुनावों पर भी चर्चा की। राज्यपाल ने यकीन दिलाया कि चुनावों में किसी प्रत्याशी और मतदाता में असुरक्षा की भावना न हो। आम लोग विश्वासपूर्ण माहौल में मतदान कर सकें। इसके लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

हंदवाड़ा के विधायक और पूर्व समाज कल्याण मंत्री सज्जाद गनी लोन ने राज्यपाल को बधाई दी। पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जाद गनी लोन ने अपने निर्वाचन क्षेत्र के चहुंमुखी विकास के लिए जरूरी उपायों और विकास योजनाओं की मौजूदा स्थिति पर राज्यपाल से विचार विमर्श करते हुए निकाय व पंचायत चुनावों में आम लोगों की भागेदारी बढ़ाने के उपायों पर भी चर्चा की। राज्यपाल ने सज्जाद गनी लोन के सभी मुद्दों के यथासंभव हल का यकीन दिलाते हुए उनसे राज्य में जमीनी स्तर पर लोकतंत्र को मजबूत बनाने और राज्य के समग्र विकास के अपने प्रयास जारी रखने का आग्रह किया।

राजभवन के प्रवक्ता ने बताया कि गुलाम नबी आजादी और सज्जाद गनी लोन के अलावा खानसाहब के विधायक हकीम मोहम्मद यासीन भी राज्यपाल से मिले। उन्होंने सत्यपाल मलिक को जम्मू कश्मीर में राज्यपाल बनने पर बधाई दी। हकीम यासीन ने राज्यपाल को अपने इलाके के लोगों की समस्याओं और सड़कों की दयनीय स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि खानसाहब विधानसभा क्षेत्र के स्कूलों में अध्यापकों की संख्या भी पर्याप्त नहीं है और स्वास्थ्य सेवाओं का भी अभाव है। उन्होंने राज्य में निकाय और पंचायत चुनाव कराने के राज्यपाल के फैसले को सराहते हुए कहा कि इससे रियासत में लोकतंत्र को मजबूत बनाने के साथ ग्रामीण अंचलों में विकास कार्यो में तेजी लाने में मदद मिलेगी। राज्यपाल ने विधायक हकीम यासीन को उनके क्षेत्र की समस्याओं के यथाशीघ्र हल करने का यकीन दिलाते हुए उनसे आम लोगों में पंचायत व निकाय चुनावों के प्रति जागरूकता पैदा करने का आग्रह किया। उन्होंने उम्मीद जताई की इन चुनावों में ज्यादा से ज्यादा पढ़े लिखे युवक बतौर उम्मीदवार हिस्सा लेने आगे आएंगे।

Posted By: Jagran