श्रीनगर, राज्य ब्यूरो : उत्तरी कश्मीर के बांडीपोरा अंतर्गत पड़ने वाले नादिहाल में सुरक्षाबलों ने बुधवार को लश्कर-ए-तैयबा के एक स्थानीय आतंकी को गिरफ्तार कर लिया। उसकी निशानदेही पर दो किलो आरडीएक्स समेत हथियारों का एक बड़ा जखीरा और अन्य साजो सामान भी जब्त किया गया है। सुरक्षा बलों को यह सफलता बांडीपोरा के पापचन इलाके में पुलिस, सेना और सीआरपीएफ के जवानों द्वारा लगाए गए संयुक्त नाके पर मिली। पकड़ा गया आतंकी स्कूटी नंबर- जेके15ए-0839 से गुजर रहा था।

नाके पर तैनात जवानों ने स्कूटी सवार को रुकने को कहा, लेकिन वह वहां से भागने का प्रयास किया। नाका पार्टी ने उसे पकड़ लिया और स्कूटी की तलाशी ली। स्कूटी की सीट के नीचे डिक्की में उसने एक ग्रेनेड छिपा रखा था। जवानों ने ग्रेनेड मिलते ही स्कूटी सवार को गिरफ्तार कर लिया। उसकी पहचान महबूब-उल-इनाम उर्फ फरहान के रूप में हुई है और वह कुछ समय पहले ही लश्कर-ए-तैयबा में सक्रिय हुआ था। पूछताछ में उसने बताया कि वह लश्कर के लिए पहले ओवरग्राउंड वर्कर के तौर पर काम करता था। उसने अपने हैंडलर के कहने पर नादिहाल में स्थित अपनी दुकान में आतंकियों के लिए ठिकाना बना रखा था।

महबूब-उल-इनाम उर्फ फरहान की निशानदेही पर सुरक्षाबलों ने उसकी दुकान में बने आतंकी ठिकाने की तलाशी ली। उन्हें वहां से तीन एसाल्ट राइफलें, 10 मैगजीन, 380 कारतूस, तीन पाउच, दो वाइएसएमएस सेट, डेटोनेटर के दो डिब्बे, 26 चार्जेबल पेंसिल सेल, एक चार्जेबल एडाप्टर, दो बोतल स्प्रे लुब्रीकेंट, एक मैट्रिक्स शीट, पाकिस्तान में निर्मित नायलान का धागा, हाई कार्बन बाल के 36 डिब्बे, आइईडी तैयार करने के लिए तार के पांच बंडल, पाकिस्तान में निर्मित पांच डेयरी मिल्क चाकलेट और अन्य साजो सामान मिला।

पूछताछ के दौरान महबूब-उल-इनाम ने बताया कि उसकी दुकान में बने ठिकाने का इस्तेमाल लश्कर आतंकी हैदर उर्फ अबु मुस्लिम, अबु इस्माइल उर्फ फैसल, अबु हमजा उर्फ औकाशा और गुलजार उर्फ फैजान इस्तेमाल करते थे। यह चारों आतंकी सुरक्षाबलों के साथ अलग अलग मुठभेड़ों में मारे जा चुके हैं। फिलहाल, महबूब उल इनाम से पूछताछ जारी है।

Edited By: Lokesh Chandra Mishra