श्रीनगर,एएनआइ। पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान की नापाक हरकतें लगातार जारी हैं। जम्मू कश्मीर के पुंछ के कृष्णा घाटी सेक्टर में पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया। पाकिस्तान पिछले कई दिनों से नियंत्रण रेखा पर उकसावे की रणनीति के तहत फायरिंग कर रहा है जिसका भारतीय सेना की ओर मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है।

पाकिस्तान ने बुधवार रात नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम का उल्लंघन किया और घंटों तक गोलाबारी की। पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में पाकिस्तानी फौज ने अकारण फायरिंग की और मोर्टार भी दागे। पुंछ जिले में बुधवार को पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी की गई, जिसमें बीएसएफ का एक जवान घायल हो गया। इससे पहले जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के नौशेरा में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई। इस दौरान सेना के दो जवान शहीद हो गए।

पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में लगातार अशांति फैलाने की कोशिश कर रहा है। जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। इससे पहले पाकिस्तानी रेंजरों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास बनी अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी कर संघर्षविराम का उलंघन किया था। अधिकारी ने जानकारी दी थी कि जम्मू-कश्मीर के पुंछ में किया सीजफायर का उल्लंघन कर सीमा पार से गोलीबारी शुरू की। सीमा सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की है। 

मालूम हो कि पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में लगातार अशांति फैलाने की कोशिश कर रहा है। बुधवार सुबह जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के नौशेरा में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इस दौरान सेना के दो जवान शहीद हो गए थे। आतंकियों के खिलाफ सेना ने बड़ा अभियान चलाया था। इसमें पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली गई थी और सर्च ऑपरेशन चलाया गया था। बताया जा रहा है कि मुठभेड़ स्थल पर 3 आतंकियों की मौजूदगी थी। दावा किया जा रहा था कि कुछ दिनों पहले एलओसी के जरिए आतंकवादियों ने घुसपैठ की थी।इसके खिलाफ भारतीय सेना ने कड़ी कार्रवाई की और आतंकियों को ढूंढने का अभियान चलाया।

गांदरबल में लश्कर का ओजीडब्ल्यू पकड़ा

जानकारी के अनुसार उधर, पुलिस ने बुधवार को गांदरबल में सक्रिय लश्कर-ए-ताईबा के एक ओवरग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) को गिरफ्तार किया है। वर्ष 2020 में वादी में किसी आतंकी या उसके किसी सहयोगी के पकड़े जाने की यह पहली घटना है। एसएसपी गांदरबल खलील पोसवाल ने बताया कि पकड़ा गया ओवरग्राउंड वर्कर गुंड-गांदरबल का रहने वाला रईस अहमद लोन है।

वह गांदरबल में सक्रिय लश्कर के आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकानों, पैसे और सिम कार्ड का बंदोबस्त करता था। वह आतंकियों के लिए मुखबिरी के अलावा उन्हें हथियारों संग एक जगह से दूसरी जगह सुरक्षित पहुंचाने का काम भी करता था। गत नवंबर में कुल्लन गांदरबल में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए गए पाकिस्तानी आतंकी से वह लगातार संपर्क में था।

एसएसपी ने बताया कि रईम अहमद लोन के खिलाफ सभी आवश्यक सुबूत मिलने के बाद ही उसे गिरफ्तार किया गया है। उसने कंगन, गांदरबल और बांडीपोरा में सक्रिय आतंकी नेटवर्क के बारे में कई अहम खुलासे किए हैं। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।