मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

श्रीनगर,एएनआइ। भारतीय सेना ने एक बार फिर पाकिस्तानी सैनिकों को मुहंतोड़ जवाब दिया है। सेना ने गुलाम कश्मीर (PoK) के हाजीपीर सेक्टर में पाकिस्तान के दो सैनिकों को मार गिराया है। इतना ही नहीं सेना की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान को झुकना पड़ा और सफेद झंडा लहराकर वह अपने सैनिकों के शव लेकर गया।  दरअसल, पाकिस्तान द्वारा युद्धविराम का उल्लंघन किए जाने के बाद भारतीय जवानों ने ये कार्रवाई की। बता दें कि सफेद झंडे का मतलब आत्मसमर्पण करना या युद्धविराम की मांग करना है। 

भारतीय सेना ने सफेद झंडे को देखकर उसका मान रखा, उन्होंने पाकिस्तान के सैनिकों पर गोली नहीं चलाई और उनके सैनिकों के शव ले जाने दिए। ये पूरी घटना एलओसी पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

भारतीय सेना के सामने घुटनों पर आया पाकिस्तान
सेना के सूत्रों ने कहा कि 10-11 सितंबर को भारतीय सेना के जवानों ने गुलाम कश्मीर (पीओके) के हाजीपीर सेक्टर में सिपाही गुलाम रसूल को मार गिराया था। रसूल पाकिस्तान के पंजाब प्रांत बहावलनगर से था। शुरू में पाकिस्तानी सैनिकों ने संघर्ष विराम उल्लंघन को तेज करते हुए शव को बरामद करने की कोशिश की। इस दौरान पाकिस्तान के दूसरे पंजाबी मुस्लिम सैनिक को मार गिराया गया। सेना के सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तानी सेना दो दिनों से लगातार कोशिशों के बावजूद शवों को बरामद नहीं कर सकी। नाकामयाबी हाथ लगने के बाद 13 सितंबर को पाकिस्तानी सेना ने सफंद झंडा दिखाकर अपने सैनिकों के शव हासिल किए। 

पाकिस्तान को जवाब देना जरूरी 
 लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने राजौरी जिले के सुंदरबनी सेक्टर में एलओसी से आगे के का दौरा किया।उन्होंने कहा कि एलओसी के पार बड़ी संख्या में गुलाम कश्मीर में लोगों को उकसाने के लिए नेता मौजूद हैं। वह एलओसी के करीब आने के लिए लोगों को उकसा रहे है। उन्होंने किसी तरह की कोई गलतफहमी ना हो इसलिए उन्हें जवाब दिया जाना चाहिए।

       

जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में पाकिस्तान की ओर से राजौरी सेक्टर में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया था। पाकिस्तान राजौरी जिले में भारी गोलीबारी कर चौकियों और गांवों को निशाना बनाया है।

पुंछ में भी संघर्ष विराम का उल्लंघन
पाकिस्तानी सेना ने पुंछ सेक्टर में भी शनिवार को नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर चौकियों और गांवों पर भारी गोलीबारी और मोर्टार दागे। अधिकारियों ने कहा कि सीमा पार से गोलीबारी और मोर्टार गोलाबारी सुबह 10 बजे के आसपास बालाकोट और मनकोट इलाके में शुरू हुई। अधिकारी ने आगे कहा कि अंतिम जानकारी मिलने तक दोनों पक्षों के बीच भारी गोलीबारी चालू थी। पुंछ के उपायुक्त राहुल यादव ने कहा कि पाकिस्तानी गोलीबारी में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

केरन सेक्टर में सेना ने मारे थे पाकिस्तानी सैनिक
जानकारी के लिए बता दें कि केरन सेक्टर से भी खबरें आई थी कि सीमा पर पाकिस्तानी आर्मी के BAT (बॉर्डर ऐक्शन टीम) अटैक को नाकाम करते हुए पाकिस्तान के कम से कम 5 से 7 सैनिक मारे गए थे। पाकिस्तान अपने इन सैनिकों को लेकर नहीं गए थे। उनके शव वहीं पड़े रहे थे। हालांकि, सेना ने इन शवों की सैटलाइट तस्वीरें भी ली हैं। गौरतलब, है कि पाकिस्तान लगातार कश्मीर में शांति भंग करने की कोशिश करता रहता है। 

आतंकी भी कर रहे घाटी में घुसपैठ
जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद  इंटेलिजेंस सूत्रों ने बताया था कि घाटी में कई आतंकियों को देखा गया था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 5 अगस्त से लेकर अब तक घाटी में 40 पाकिस्तानी आतंकी घुसपैठ कर चुके हैं। इंटेलिजेंस एजेंसियों के अनुसार, ये सभी आतंकी जैश ए मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हुए हैं। इंटेलिजेंस सत्रों का कहना है कि इन आतंकियों के निशाने पर  सुरक्षा बल हैं। साथ ही कहा गया है कि ये आतंकी किसी बड़े हमले की फिराक में हैं। इतना ही नहीं, पाकिस्तान कोशिश में लगा है कि वह और आतंकी भेजे। 

ये भी पढ़ें: क्रूरता की हदें पार करने के लिए बदनाम है पाकिस्‍तान की BAT टुकड़ी, जानें कैसे करती है काम

ये भी पढ़ें: कश्मीर में आतंकवाद पर 'जीरो टॉलरेंस' की नीति, अगस्त तक ढेर किए गए 139 आतंकी

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप