श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। पुलिस और सुरक्षाबलों पर अक्सर कश्मीरियों पर जुल्म करने का आरोप लगाने वाले हुर्रियत  नेता मीरवाइज मौलवी उमर फारूक ने लोगों से कहा कि वे कश्मीर को उड़ता पंजाब न बनने दें। पुलिस व अन्य सरकारी संस्थाओं का सहयोग कर नशे के तस्करों को कठोर दंड दिलाने में मदद करें। नशे की लत हमारे बच्चों को कश्मीर के मुस्तकिबल को बर्बाद कर रही है। लड़कियां भी नशे की जकड़ में आ रही हैं।

जामिया मस्जिद में नमाज ए जुम्मा से पूर्व अपने खुतबे में मीरवाइज ने कहा कि कश्मीर में नशे का कारोबार खतरनाक शक्ल ले चुका है। शाम होते ही यहां गली-बाजारों, कब्रिस्तानों और पार्कों में नशे के कारोबारी बेखौफ होकर नशीली दवाएं नौजवानों में बेच रहे होते हैं। कश्मीर की युवा पीढ़ी नशे का शिकार होती जा रही है। स्कूली बच्चों में भी नशीली दवाएं बेची जा रही हैं।

जिस तरह से हम लोग यहां पश्चिमी सभ्यता का अनुकरण कर रहे हैं, उसके कारण भी यहां नशाखोरी बढ़ रही है। हमें अपने बच्चों को नैतिकता का पाठ पढ़ाना चाहिए, उन्हें कश्मीर की सांस्कृतिक परंपरा और इस्लाम के उसूलों पर चलने की तालीम देनी चाहिए। हुर्रियत चेयरमैन ने कहा कि सभी अभिभावकों, अध्यापकों, उलेमाओं, मोहल्ला समितियों और मस्जिद कमेटियों को कश्मीर के भविष्य को बचाने के लिए एकजुट होकर नशाखोरी व नशे के कारोबार के खिलाफ काम करना होगा। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप